स्पेशल आलेख

शहीदों के खून पर सियासत करके और कितना नीचे गिरेगी भाजपा !

शहीदों के खून पर सियासत कर और कितना नीचे गिरेगी भाजपा ! शहीदों का खून हमारी सरहदों की हिफाजत और राष्ट्र की संप्रभुता की जमानत देते हैं. हमारे जवान हम सबको गर्वान्वित करते हैं. लेकिन अगर शहीदों के खून और उनके बलिदान को सियासत का आधार बना लिया जाये तो यह उनका अपमान है. क्योंकि हमारे जवान अपने जीवन की ...

Read More »

देशभर के विद्वानों के व्‍याख्‍यान के साथ संपन्‍न हो गया ‘वार्षिक पुरातात्विक संगोष्‍ठी

इंडियन आर्कियोलॉजिकल सोसाइटी और पुरातत्‍व निदेशालय (कला, संस्‍कृति एवं युवा विभाग, बिहार) के संयुक्‍त तत्‍वावधान में आयोजित तीन दिवसीय राष्‍ट्रीय ‘वार्षिक पुरातात्विक संगोष्‍ठी’ का आज समापन हो गया। संगोष्‍ठी का समापन समारोह बिहार म्‍यूजियम में आयोजित किया गया, जहां मुख्‍य अतिथि के रूप में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के परामर्शी सह बिहार के पूर्व मुख्‍य सचिव अंजनी कुमार सिंह शामिल हुए।  नौकरशाही डेस्क उन्‍होंने बिहार ...

Read More »

उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने किया वार्षिक पुरातात्विक संगोष्‍ठी का उद्घाटन

पुरातत्‍व निदेशालय, कला, संस्‍कृति एवं युवा विभाग, बिहार तथा इंडियन आर्कियोलॉजिकल सोसाइटी, नई दिल्‍ली इंडियन सोसाइटी फॉर प्री-हिस्‍टॉरिक एंड क्‍वार्टनरी स्‍टडीज, पुणे इंडियन हिस्‍ट्री एंड कल्‍चर सोसाइटी, नई दिल्‍ली के तत्‍वावधान में आज पटना स्थित ज्ञान भवन में बिहार के उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने ‘वार्षिक पुरातात्विक संगोष्‍ठी’ का विधिवत उद्घाटन किया। नौकरशाही डेस्‍क इस मौके पर कला, संस्‍कृ‍ति एवं युवा विभाग के प्रधान सचिव रवि मनुभाई परमार, इंडियन आर्कियोलॉजिकल ...

Read More »

पढ़िए, RBI न बन पाने की पत्रकार रवीश कुमार की पीड़ा

शक्तिकांत दास को भारतीय रिजर्व बैंक का गवर्नर नियुक्‍त करने के बाद देश के चर्चित पत्रकार रविश कुमार ने व्यंग के लहजे में लिखा-‘आर बी आई के गवर्नर के लिए मैं क्यों नहीं चुना जा सका!’ दरअसल, वे भी इतिहास के छात्र हैं और आर बी आई के गवर्नर भी इतिहास के छात्र राहे हैं। इसपर उन्होंने खुशी भी जाहिर की।  ...

Read More »

मैथिली की लेखिका वीणा ठाकुर को साहित्‍य अकादमी पुरस्‍कार

हिन्दी की प्रसिद्ध लेखिका चित्रा मुदगल, उर्दू के लेखक रहमान अब्बास और मैथिली की लेखिका वीणा ठाकुर समेत 24 लेखकों को वर्ष 2018 के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार दिए जाने की बुधवार को यहाँ घोषणा की गयी। पंजाबी के लिए यह पुरस्कार मोहनजीत, राजस्थानी में राजेश कुमार व्यास, अंग्रेजी में अनीस सलीम और गुजराती में शरीफा वीजलीवाला को दिया जायेगा। ...

Read More »

दिनकर जयंती:नेता,अफसर सब राष्ट्रकवि के दीवाने पर उनके गांव की सुधि लेने वाला कोई नहीं

दिनकर जयंती: नेता,अफसर सब राष्ट्रकवि के दीवाने पर उनके गांव की सुधि लेने वाला कोई नहीं शिवानंद गिरि, सिमरिया से सिमरिया आने पर ग्रामीणों  की बात सुनना भी नेताओं व अधिकारियों को खराब लगती रही है। उदाहरण देखिए-एक बार तत्कालीन केन्द्रीय उधोग राज्यमंत्री कृष्णा शाही एक समारोह में  आयीं हुई थी.स्थानीय युवा साहित्यकार शशिधर ने गांव के हालात तथा अन्य ...

Read More »

रविश कुमार ने किया आई टी सेल के सरदार की नाइट क्लास और भूसे के गणित को बेनकाब

10 सितम्बर को संपूर्ण भारत में बढ़ते पेट्रोल और डीजल की कीमत के खिलाफ भारत बंद बुलाया गया था, जिसे देश भर में व्यापक समर्थन मिला। मगर सत्ताधारी दल भाजपा की ओर से इस बंद को बे असर बताया गया और ट्विटर पर एक पोस्ट किया गया, जिसमें दिखाया गया कि कांग्रेस के समय पेट्रोल की महंगाई अधिक थी करीब ...

Read More »

राधिका रमण प्रसाद सिंह कथा-लेखन के अत्यंत विशिष्ट शैलीकार थे

 राधिका रमण प्रसाद सिंह की जयंती पर साहित्य सम्मेलन में आयोजित हुई लघुकथा–गोष्ठी पटना,१० सितम्बर । महान कथा–शिल्पी राजा राधिका रमण प्रसाद सिंह,कथा–लेखन में अपनी अत्यंत लुभावनी शैली के कारण, हिंदी कथा साहित्य में ‘शैली–सम्राट‘के रूप में स्मरण किए जाते हैं। उनकी कहानियाँ अपनी नज़ाकत भरी भाषा और रोचक चित्रण के कारण, पाठकों को मोहित करती हैं। कहानी किस प्रकार पाठकों को आरंभ से ...

Read More »

जाने माने पत्रकार कुलदीप नैयर का दिल्‍ली में निधन, पीएम ने किया शोक व्‍यक्‍त

भारतीय पत्रकारिता जगत के जानेमाने वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नैयर का निधन बुधवार की रात को दिल्ली के एस्कॉर्ट अस्पताल में हो गया. वे 95 वर्ष के थे. सूत्रों के मुताबिक, बृहस्पतिवार दोपहर 1 बजे लोधी घाट पर अंतिम संस्कार किया जाएगा। बताया जा रहा है कि कुलदीप नैयर पिछले चार दिनों से दिल्ली के अस्पताल में आईसीयू में भर्ती थे. ...

Read More »

इंदिरा गांधी को पहली बार अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था दुर्गा, जानिये वाजपेयी के नेहरू-इंदिरा-राजीव से कैसे थे संबंध   

पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्‍न अटल बिहार वाजपेयी को भारतीय राजनीति में शिखर पुरूष की तरह देखा जाता है. संभवत: वे अकेले ऐसे राजनेता हैं, जिनके मुरीद सभी दलों के लोग हैं. जवाहर लाल नेहरू से लेकर आज के दौर में सर्वमान्‍य राजनेता हैं. तभी तो एक बार पंडित नेहरू ने किसी विदेशी अतिथि से अटल बिहारी वाजपेयी का परिचय संभावित ...

Read More »