ब्यूरोक्रेसी

पटना शहर में जाम के झाम से अधिकारी हुए हलकान

प्रमंडलीय आयुक्त ने अधिकारियों के साथ की बैठक, कहा- बाईपास क्षेत्र में लग रहे जाम से जल्द मिलेगी मुक्ति पटना. पटना शहर में जाम के झाम से अधिकारी भी हलकान हैं. आखिरकार कमिश्नर ने अधिकारियों के साथ बैठक कर इसका निदान ढूंढा. बाईपास में बेउर मोड़ से जीरो माईल के बीच दो जगहों पर सड़क कटी हुई है, जिससे होकर गाड़ियों ...

Read More »

ब्लॉग के जरिए गुरमेहर कौर ने कहा – मैं अपने पापा की बेटी, आपके शहीद की नहीं

दिल्‍ली यूनिवर्सिटी विवाद के बाद सोशल मीडिया पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के विरोध के बाद चर्चा में आई छात्रा गुरमेहर कौर ने ब्‍लॉग के जरिए खुद को तलाशने की कोशिश की है. gurmeharkaur.wordpress.com लिंक एड्रेस पर गुरमेहर ने अपनी अभिव्‍यक्ति की शुरूआत Who am I? से की है. गुरमेहर ने माइक्रो ब्‍लॉगिंग साइट ट्विटर पर इस लिंक को शेयर ...

Read More »

केवल 200 रुपये देकर इको पार्क में महीने भर लीजिये जिम का मज़ा 

– रजिस्ट्रेश्न आज से शुरू हो रहा है, बनवाएं जिम का पास .  – पर्यावरण एवं वन विभाग मंत्री करेंगे नये जिम का उद्घाटन – महिला व पुरुष के लिए होगा अलग-अलग जिम नौकरशाही ब्यूरो, पटना आप केवल 200 रुपया देकर राजधानी के sabse बेहतर पार्क इको पार्क में जिम का आनंद उठा सकते हैं. इको पार्क में आज से ...

Read More »

जेल प्रशासन अब भी बेबस, नहीं पता कैसे वाॉयरल हुई शहाबुद्दीन के नयी लुक वाली तस्वीर

बेबस सीवान जेल प्रशासन अब भी यह नहीं पता लगा पाया है कि  पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन के नयी लुक वाली तस्वीर कैसे वॉयरल हुई.ये तस्वीर दो दिनों से सोशल मीडिया पर धूम मचा रही है. इस बीच सीवान जेल प्रशासन ने बीती रात जेल में तलाशी अभियान रखा इस दौरान उसे कुछ मोबाइल और सिम तो मिले लेकिन इससे ...

Read More »

बिहारी डॉक्टर के अकाउंट का पैसा हैकरों ने अमेरिकी चुनाव में झोंका

पुलिस का कहना है कि पटना के एक डॉटर के बैंक खाते को हैकरों ने 3 लाख 52 हजार रुपये निकाल कर अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में हारे मिट रोमनी के चुनाव प्रचार के लिए लगा दिया है. वर्मा का बैंक खाता बोरिंग रोड स्थित एक्सिस बैं में है. वर्मा के अकाउंट से जब ये पैसे निकले तो उनके मोबाइल ...

Read More »

बोलने की आजादी नौकरशाहों को नहीं है अस्थाना साहब

आईपीएस एनसी अस्थाना की एक टिप्पणी ने यह बहस फिर से सामने ला दी है कि लोकतंत्र में अभिव्यक्ति की आजादी, सरकार के अधिकारियों को वहीं तक है जिससे खुद सरकार की किरकिरी न हो. चाहे यह बात सच ही क्यों न हो. क्या एक नौकरशाही निजी राय रखने के लिए भी स्वतंत्र नहीं है. 1986 बैच के आईपीएस अधिकारी ...

Read More »