हम दो-हमारे दो के बाद राहुल ने सीएए पर भाजपा को घेरा

हम दो-हमारे दो के बाद राहुल ने सीएए पर भाजपा को घेरा

संसद में हम दो-हमारे दो के बहाने भाजपा पर हमला करने के बाद आज राहुल असम में गरजे। कहा, कुछ भी कर लो सीएए को लागू नहीं होने देंगे।

कुमार अनिल

संसद में और फिर उसके बाद राजस्थान की किसान पंचायतों में राहुल गांधी ने हम दो-हमारे दो का नारा उछालकर सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह को घेरा। उन्होंने हम दो-हमारे दो से बताने की कोशिश की कि दो लोगों की सरकार है और दो लोगों के लिए सरकार है। आज असम में फिर राहुल ने भाजपा को सीधी चुनौती दी और कहा कि कुछ भी कर लो, असम में सीएए लागू नहीं होने देंगे।

मालूम हो कि भाजपा ने एक समय सीएए लागू करने को बड़ा मुद्दा बनाया था, लेकिन असम चुनाव में वह इस मुद्दे पर बात करने से परहेज कर रही है। आज असम में राहुल ने भाजपा को उसी के मुद्दे पर घेरा। उन्होंने अपना गमछा दिखाया, जिसपर सीएए लिखा था और जिसे क्रॉस के चिह्न से काट दिया गया था।

कोरोना घोटाला हुआ, सरकार ने माना, पर असली गुनहगार कौन

राहुल ने असम में जोर देकर कहा कि भाजपा असम को बांटना चाहती है। भाजपा असम को बांटकर ही अपने पूंजीपति मित्रों को लाभ पहुंचाना चाहती है। हम बंटने नहीं देंगे। उन्होंने चाय बगान के मजदूरों को अधिक मजदूरी देने का भी वादा किया।

राहुल अडानी और अंबानी का नाम लेकर हमला करते हैं। वाम दलों को छोड़ दें, तो राहुल से पहले देश की राजनीति में इस तरह खुलकर कोई दल किसी बड़े पूंजीपति पर हमला नहीं करता था। उन्होंने कुछ वर्ष पहले मोदी सरकार को सूट-बूट की सरकार कहा था। इस दौर में वे एक कदम आगे बढ़कर अडानी-अंबानी का नाम लेकर हमला करते हैं कि किस प्रकार मोदी सरकार इन दो कारपोरेट की मदद कर रही है।

दागी मंत्रियों पर नीतीश का टाल मोटल, तेजस्वी हुए हमलावर

आज असम में राहुल ने फिर उस मुद्दे को उठाया, जो एक साल पहले तक भाजपा का बड़ा मुद्दा था। कांग्रेस ने सवाल उठाए, तो उसे मुसलमानों की पार्टी कहा गया। अब समय और स्थान बदल गया है। असम में भाजपा सीएए पर चर्चा से परहेज कर रही है। वहीं राहुल ने आगे बढ़कर इस मुद्दे को उठाया है। साथ ही उन्होंने असमिया संस्कृति की रक्षा का भी सवाल उठाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*