IAS ने पूछा, आईपीएल में वीवीआईपी बिना मास्क के क्यों

IAS ने पूछा, आईपीएल में वीवीआईपी बिना मास्क के क्यों

उच्च पदों पर रह चुके IAS अधिकारी ने कहा कि आईपीएल में कमेंटेटरों को मास्क में देखकर अच्छा लगा, पर वीवीआईपी गैलरी में कोविड के नियमों की धज्जियां उड़ीं।

कोविड-19 लगातार बढ़ रहा है। लोग मर रहे हैं, लेकिन इस बीमारी से लड़ने के नाम पर मजाक चल रहा है। आम लोगों को मास्क नहीं पहनने पर जुर्माना भरना पड़ रहा है, पर भारत सरकार के मंत्री बंगाल में रोड शो कर रहे हैं। आज खुद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन ने प्रधानमंत्री की रैली के फोटो ट्विट किए हैं, जिनमें लोग एक दूसरे से सट-सट कर खड़े हैं। कोई मास्क में नहीं है।

अब भारत सरकार के पूर्व सचिव और देश के कई प्रमुख पदों पर रह चुके आईएएस अधिकारी अनिल स्वरूप ने आज ट्विट करके लोगों को सोचने पर मजबूर कर दिया है। उन्होंने कहा कि आईपीएल मैच के दौरान कमेंटेटरों को मास्क में देखना आशा-उम्मीद जगाता है, वहीं वीवीआईपी गैलरी में कोविड-19 के नियमों के पालन की उपेक्षा देखकर निराशा हुई।

टीका उत्सव पर कनफ्यूजन, सोनिया ने मोदी सरकार को घेरा

अनिल स्वरूप ने एक फोटो भी ट्विट किया है, जिसमें वीवीआईपी गैलरी में बैठे बीसीसीआई के बड़े अधिकारी बिना मास्क में बैठे हैं। इनमें खुद बीसीसीआई के सचिव जय शाह और अध्यक्ष सौरव गांगुली शामिल हैं।

देश देख रहा है कि किस प्रकार कोविड-19 के नियमों के प्रति जिम्मेदार पदों पर बैठे लोग गैरजिम्मेदार हैं और इसका खामियाजा आम लोगों को उठाना पड़ रहा है। कोरोना की दूसरी लहर में कितने लोग फिर से अपना काम-धंधा छोड़कर वापस अपने गांव लौटने को मजबूर हैं।

बंगाल में सीआईएसएफ की फायरिंग में पांच मरे, आरोप-प्रत्यारोप

अनिल स्वरूप के ट्विट को लगभग चार सौ लाइक्स मिल चुके हैं। कई लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया में देश के गृहमंत्री की तस्वीर शेयर की है, जिसमें वे बिना मास्क के बंगाल चुनाव में प्रचार कर रहे हैं। एक ने लिखा-ही इज नॉट इन अ कार, बट इन सरकार।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*