ठेंगे पर शराबबंदी कानून: यह युवक कह रहा है हिम्मत है तो गिरफ्तार करो मुझे

कानून का भय नही,बाइक पर बैठा युवक शराब की बोतल लहराता हुआ कहता है,जा रहा हूँ शराब लाने,कोई रोक सकता है तो रोक ले। 

दीपक कुमार, ब्यूरो प्रमुख मिथिलांचल

हालांकि इस वीडियो की पुष्टि नौकरशाही मीडिया नहीं करती है,लेकिन जांच की बात से इंकार नहीं करता।

जबसे बिहार में शराबबंदी हुई है सरकार शराबी,शराब माफिया और तस्करों को दबोचने के लिए हर मोर्चे पर प्रयास कर रही है। बावजूद इसके नेपाल से सटे सीमाई इलाकों का हाल देखने पर पता चलता है कि यहां जाम सिंर्फ छलकाए ही नहीं जाते,बल्कि बल्कि जमकर उसकी तस्करी भी बदस्तूर जारी है।

यह भी पढ़ें- जब शराब बेचते धरे गये थानाध्यक्ष

यहां तक कि खेत खलिहान से लेकर शिक्षा का मंदिर भी रात को मयखाने में तब्दील हो जाता है। यहां के खेतों,खलिहानों,विद्यालय भवन भी शराबियों के आतंक से अछूते नहीं हैं। यही वजह है कि विद्यालय भवन में भी शराब की बोतलें मिल रही है।सुबह में विद्यालय के अंदर व बाहर ताश के बिखड़े पत्ते,प्लास्टिक के ग्लास, शराब की बोतलें पियक्कड़ों के बढ़ते हौसलों की कहानी बयां करते हैं।

खुल्लम-खुल्ला शराब

सबसे पहले कन्हौली थानाक्षेत्र के बगहा,इटहरवा, नेपाल के फेनहारा से सटे कन्हौली का इलाका,भारसड,मुहचट्टी सहित यहां के कई इलाको में शराब का अवैध धंधा फल-फूल रहा है।इन इलाकों से होकर शराब की तस्करी होती है। यह बात किसी से छिपी नही है।कई बार एसएसबी और पुलिस ने भी इन इलाकों के आस-पास से शराब,वाहन व धंधेबाजों को पकड़ा है,लेकिन हाल के दिनों में शराब माफियाओं का नेटवर्क इतना मजबूत हो गया है कि अब यहां के खेत-खलिहानों से भी शराब की बोतलें निकलती हैं।

यह भी पढ़ें- शराबबंदी पर अध्ययन के खुलासे से फंसी सरकार: दलित, पिछड़े सबसे अधिक डाले गये जेल में

दुलारपुर में एक बृद्ध ने कहा-बॉर्डर पर बैठा जवान और कन्हौली थाना की पुलिस के कारण यहां शराब की जम कर तस्करी होती है। जवान तो जवान यहां का बच्चा सब भी नशा की गिरफ्त में आ रहा है। शराब माफिया के भय से कोई बोलने की जहमत नहीं उठाता। लोगों को शराब माफिया और पुलिस दोनों से भय होता है। हद तो यह कि पुलिस के आलाधिकारी भी इस सबसे बेखबर हैं या जान-बूझ कर अंजान बने हुए हैं।

नेपाल से धड़ल्ले से तस्करी

इधर सोनबरसा थानाक्षेत्र का बसतपुर,सहोरवा,लालबन्दी,सोनबरसा, इत्यादि बॉर्डर पर शराब की तस्करी होती रही है।भुतही में भुतही रैन,बिशनपुर गोनाही का लोहखर के निकट बथनाहा तथा सोनबरसा का इलाका ट्रक से शराब तस्करी के लिए और शराब उतारने के लिए जाना जाता रहा है। इन इलाकों में एसएसबी तथा पुलिस ने कई बार शराब लदे ट्रकों को पकड़ा है,साथ ही शराब के कई गोदामों को भी सील किया है। बावजूद इसके सोनबरसा थाना क्षेत्र में भी शराब के धंधेबाजों की पौ-बारह है। भूतही में शराब माफिया के आतंक का असर शिक्षा के पवित्र मन्दिर पर भी पड़ रहा है। जागेश्वर उच्य विद्यालय भुतही के एचएम पंकज कुमार ने नौकरशाही मीडिया से कहा कि इस बावत सोनबरसा थानाध्यक्ष व शिक्षा विभाग के अधिकारी को पत्र दिया दिया गया है।विद्यालय में शराबी,जुआरियों का जमघट रहता है,असमाजिक तत्वों का जमावड़ा होता है।

सोनबरसा थाना के प्रभारी थानाध्यक्ष मो एकराम खान ने कहा–थानाध्यक्ष राकेश रंजन के छुट्टी पर चले जाने के बाद दो दिनों से प्रभार में हूं। मुझे उक्त वीडियो के सम्बन्ध में कोई जानकारी नही है। मीडिया से ही उन्हें पता चला है। एचएम से बात कर असमाजिक तत्वों को चिन्हित कर कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*