IPS Association ने की एसआई सिरिशा की खुलकर सराहना

IPS Association ने की एसआई सिरिशा की खुलकर सराहना

IPS Association ने आंध्रप्रदेश की एसआई सिरिशा की खुलकर सराहना की है। सिरिशा ने मानवता की सेवा की मिसाल पेश की है। इस सराहना से सिरिशा की हौसलाआफजाई होगी।

आईपीएस एसोसिएशन ने आंध्रप्रदेश की एक एसआई की जमकर सराहना की है। एसोसिएशन ने ट्विट करके कहा कि सिरिशा ने साबित किया है कि खाकी का अर्थ है सेवा। पीड़ित मानवता की सेवा।

दरअसल सिरिशा आंध्रप्रदेश के श्रीकाकुलम में पदास्थापित एक सब-इंस्पेक्टर हैं। आईपीएस एसोसिएशन ने अंग्रेजी अखबार में छपी रिपोर्ट को भी शेयर किया है, जिसमें सिरिशा 80 वर्ष के बुजुर्ग के शव को उठाकर ले जा रही हैं। कासीबग्गा पुलिस को जानकारी मिली कि एक खेत में एक शव पड़ा है।

अखबार के अनुसार गांववालों ने बताया कि वह बुजुर्ग भीख मांग कर गुजारा करता था। उसके पास अपना घर तक नहीं था। सिरिशा ने देखा कि शव उठाने के लिए आदमी कम हैं, तो वह खुद आगे बढ़ी और शव को एक किमी तक खुद ढो कर ले गई।

IPS अरविंद पांडे के पोस्ट पर बवाल-मोदी की गुलामी का आरोप

आईपीएस एसोसिएशन ने कहा कि हम एसआई सिरिशा को सैल्यूट करते हैं। उन्होंने मानवता की बड़ी सेवा की है। आईपीएस एसोसिएशन के ट्विट पर एक अन्य सरकारी सेवक नवीन अरोड़ा ने लिखा-मैं खाकी हूं, जिम्मेवारी निभाती हूं।

आईपीएस एसोसिएशन के ट्विट की बड़ी संख्या में लोगों ने सराहना की। छह हजार से ज्यादा लाइक्स हैं। बड़ी संख्या में लोगों ने कमेंट भी किए हैं। सबने सिरिशा के इस कार्य को मानवता की सेवा बताया है। एक ने लिखा कि उस भिखारी के शव को कोई छूना नहीं चाहता था, पर सिरिशा ने आगे बढ़ कर कंधा दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*