नागरिकता आंदोलन में शहीद हंजाला के पिता को शिया बोर्ड ने दी घर के लिए जमीन

बिहार राज्य शिया वक्फ बोर्ड ने नागरिता विरोधी आंदोलन के दौरान अतिवादियों के हमले शहीद हुए आमिर हन्ज़ला के पिता को घर बनाने के लिए जमीन आवंटित की है.

इरशाद अली आजाद ने शहीद आमिर हंजाला के पिता को सौंपा जमीन के कागजात


पटना। फुलवारीफ में कुछ महीने पहले नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ राजद के आंदोलन के दौरान साम्प्रदायिक हिंसा में असमाजिक तत्वों द्वारा आमिर हन्ज़ला को बेदर्दी से कत्ल कर दिया गया था और दो दिन बाद पुलिस प्रशसन ने उसकी लाश खोज कर दफन कराया।

शियावक्फ बोर्ड के अध्यक्ष इरशाद अली आजाद ने खुद हंजाला के परिवार के यहां जा कर शिया वक्फ बोर्ड की जमीन को 30 वर्षों के लिए लीज संबंधी कागजात सौंपा.

इरशाद अली आजाद ने कहा कि जिस समय बिहार ही नहीं पूरे देश में एन.आर.सी, एन.पी.आर. के अवाम ने खिलाफ मोर्चा खोला था, उसी की आड़ में असमाजिक तत्वों ने फुलवारीशरीफ के कई लोगों को गायब कर दिया था जिसमें आमिर को कत्ल कर दिया गया था। आमिर के पिता सुहैल अहमद ने शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष के समक्ष गुहार लगाई थी कि उनके पास रहने के लिए मकान नहीं है। अतः शिया वक्फ बोर्ड उन्हें जगह उपलब्ध कराये।

इसी के मद्देनजर बोर्ड के चेयरमैन इरशाद अली आजाद ने बोर्ड द्वारा आमिर के पिता को अमीरी बेगम वक्फ इस्टेट, चांद काॅलोनी नियर गाय घाट पटना में 5 धुर जमीन कानूनी तरीके लीज़ पर दे दी।

आज श्री आजाद ने आमिर के घर जाकर उसके पिता सुहैल अहमद को जमीन का ऐग्रीमेन्ट पेपर हवाले किया।


श्री आजाद ने बताया कि आमिर के घर वाले गरीब हैं और फैमली भी बड़ी है। किराये के मकान में हारून नगर सेक्टर-3 में रहते हैं।

ये भी बताते चलें कि चांद काॅलोनी में बोर्ड द्वारा लगभग 200 गरीब और बेसहारा परिवारों को रहने के लिए कानूनी तरीके से मामूली किराये पर जमीन दी गई है। इसके अतिरिक्त अन्य बहुत लोगों को अलग अलग जगह पर मामूली किराये पर जमीन दी गई है ताकि गरीब परिवार के लोग चैन से रह सकें। उन्होंने कहा कि हमारी कोषिष है कि वक्फ की जमीनों का उपयोग गरीबों के कल्याण के लिए किया जाय ताकि वक्फ करने वालें का मकसद पूरा किया जा सके।

                                इरषाद अली आजाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*