JDU : अल्पसंख्यक नेताओं पर भरोसा, 11 को जिलों की कमान

JDU : अल्पसंख्यक नेताओं पर भरोसा, 11 को जिलों की कमान

ललन सिंह ने जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने पर अल्पसंख्यक नेताओं पर जम कर भरोसा जताया है। उन्होंने इस समुदाय के11 नेताओं को जिलों की कमान सौंपी।

मेजर इकबाल हैदर खां सीतामढ़ी के और रजिया खातून बनीं बगहा की प्रभारी

अल्पसंख्यक वर्ग के जदयू नेता और कार्यकर्ता खुश हैं। सांसद ललन सिंह ने पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनते अल्पसंख्यक समुदाय के 11 नेताओं को विभिन्न जिलों का प्रभारी नियुक्त किया है। ललन सिंह के इस निर्णय से हिंदुत्व की राजनीति करनेवाली भाजपा को अगर छोड़ दें, तो राजद, कांग्रेस और वामपंथी पार्टियों के लिए जदयू के इस फैसले को बहुत बड़ी चुनौती के रूप में देखा जा रहा है।

जदयू ने पार्टी के वरिष्ठ नेता मेजर इकबाल हैदर खां को सीतामढ़ी, पूर्व विधायक और पार्टी महासचिव रजिया खातून को बगहा, पार्टी के पूर्व विधायक और उपाध्यक्ष मो. मुजाहिद आलम को पूर्णिया का जिला प्रभारी बनाया है। अल्पसंख्यक वर्ग से आनेवाले पार्टी नेताओं को महत्वपूर्ण जिलों की जिम्मेदारी दी गई है। पार्टी ने जिन 11 अल्पसंख्यक समुदाय के नेताओं को विभिन्न जिलों का प्रभारी बनाया है, वे इस प्रकार हैं-

1. मेजर इकबाल हैदर खां- महासचिव, प्रभारी सीतामढ़ी

2. रजिया खातून-महासचिव, बगहा

3. शर्फुद्दीन-पूर्व विधायक और महासचिव- पं. चंपारण

4. शगुफ्ता अजीम-महासचिव- सुपौल

5. अल्ताफ आलम उर्फ राजू-सचिव-किशनगंज

6. मो. मुजाहिद आलम, पूर्व विधायक, उपाध्यक्ष- पूर्णिया

7. जियाउद्दीन खां-महासचिव-गोपालगंज

8. डॉ. आसमा परवीन-महासचिव- समस्तीपुर

9. फराज फातमी, पूर्व विधायक-महासचिव-भागलपुर

10. शौकत अली-सचिव- नवादा

11. रजिया कामिल अंसारी-सचिव- कैमूर

गुजरात मॉडल : सात साल में 4 सीएम बदले, क्यों नपे रूपाणी?

जदयू ने एक साथ अल्पसंख्यक समुदाय के 11 नेताओं को विभिन्न जिलों का प्रभारी बनाकर संकेत दे दिया है कि आनेवाले दिनों में उसका जोर इस समुदाय को पार्टी के करीब लाना है। ये सभी नेता पार्टी से लंबे समय से जुड़े रहे हैं और इन्हें जिलों का प्रभारी बनाकर जदयू ने अन्य सेकुलर दलों खासकर राजद को चुनौती दी है। ये प्रभारी न सिर्फ अल्पसंख्यक वर्ग को नीतीश सरकार की विभिन्न योजनाओं को लाभ पहुंचाने में पुल का काम करेंगे, साथ ही सरकार की योजनाओं की जानकारी भी समुदाय को देंगे।

Karnal : गजब! पहली बार किसानों के आगे झुकी भाजपा सरकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*