डोल रही नीतीश सरकार, जदयू के भोज में 5 MLA नहीं पहुंचे

डोल रही नीतीश सरकार, जदयू के भोज में 5 MLA नहीं पहुंचे

डोल रही नीतीश सरकार, जदयू के भोज में 5 MLA नहीं पहुंचे। नीतीश हुए नाराज, भोज में नहीं रुके। पहली बार भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार संकट में।

विपक्ष की सरकार गिरा देने वाली भाजपा खुद पहली बार बिहार में संकट में फंस गई है। सरकार बचाने के लिए भाजपा और जदयू ने अलग-अलग बहानों से विधायकों को बांधने की कोशिश की। इसी सिलसिले में जदयू ने शनिवार को पटना में भोज रखा था। भोज मंत्री श्रवण कुमार के आवास पर आयोजित था। इस भोज में पार्टी के 5 विधायक नहीं पहुंचे। मुख्यमंत्री भी भोज में पहुंचे, लेकिन जैसे ही उन्हें मालूम हुआ कि छह विधायक भोज में नहीं पहुंचे हैं, मुख्यमंत्री नारा हुए और बिना कुछ कहे भोज से चले गए। इसी के साथ राजनीतिक गलियारे में सरगर्मी और सनसनी फैल गई। फिर से चर्चा जोर पकड़ ली कि बिहार में लगता है खेला होकर रहेगा।

जदयू के जो विधायक भोज में नहीं आए उनके नाम हैं- डॉ. संजीव, गूंजेश्वर शाह, बीमा भारती, शालिनी मिश्रा और सुदर्शन कुमार। हालांकि पार्टी ने कहा कि ये विधायक बीमार हैं या कुछ निजी कार्य में व्यस्त रहने के कारण भोज में शामिल नहीं हुए। उधर यह भी चर्चा है कि 5 विधायक पार्टी के संपर्क में अभी तक नहीं हैं। फिर जो विधायक भोज में शामिल हुए, वे भी 12 फरवरी को सरकार के पक्ष में वोट देंगे या नहीं, इस बात पर भी शक पैदा हो गया है।

जदयू ने कल रविवार को मंत्री विजय चौधरी के आवास पर पार्टी विधायकों की बैठक बुलाई है। अगर कल भी ये विधायक बैठक में नहीं आए, तो बिहार में खेला होने की संभावना बढ़ जाएगी। जदयू के भोज में विधायकों की अनुपस्थिति से दस दिन पहले जो भाजपा-जदयू सरकार मजबूत दिख रही थी, आज अचानक उसके नीचे से जमीन खिसकती दिख रही है। उधर, राजद ने इस पूरे मामले में चुप्पी बनाए रखी है। तेजस्वी यादव ने आज मीडिया से कोई बात नहीं की। अब सबकी नजर 12 फरवरी पर है, जिस दिन विधानसभा में नीतीश सरकार को विश्वास का मत हासिल करना है।

भाजपा विधायकों में टूट से बचाने अब उतरे अमित शाह