JDU विधायक ने अल्पसंख्यकों को धमकाया BJP गठबंधन को वोट करो नहीं तो अंजाम भुगतो

JDU विधायक ने अल्पसंख्यकों को धमकाया BJP गठबंधन को वोट करो नहीं तो अंजाम भुगतो

नवादा से JDU के विधान पार्षद पर गंभीर आरोप लगा है. जमीयतुल मंसूर के जिलाध्यक्ष शमीम मंसूरी ने पुलिस में शिकायत की है कि उन्हें विधान पार्षद ने वोटिंग से एक दिन पहले फोन पर धमकी दी कि अगर वे अपने लोगों से भाजपा गठबंधन के पक्ष में वोट नहीं करवायेंगे तो इसका अंजाम भुगतने को तैयार रहें.

जमीयतुल मंसूर के जिला अध्यक्ष  शमीम मंसूरी ने इस संबंध में स्थानीय पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने कहा कि पुलिस ने अभी तक एफआईआर दर्ज नहीं किया है. शमीम मंसूरी ने नौकरशाही डॉट कॉम से कहा कि जदयू के विधान पार्षद सलमान रागिब ने उन्हें फोन कर कहा कि वे अपने संगठन के लोगों का वोट लोजपा प्रत्याशी चिराग पासवान को दिलवायें. इसके जवाब मैं ने उनसे कहा कि भैया मैं आपके साथ हूं लेकिन हमारे संगठन के लोगों को मैं वोट करने का दबाव नहीं बना सकता क्योंकि वे एनडीए को किसी हाल में वोट नहीं करेंगे. लेकिन उसके बाद रागिब साहब ने मुझे दूसरे दिन फिर फोन किया और वोट नहीं करने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी.
Also Read हम जमीर बेच के जिंदा नहीं रह सकते- सलमान रागिब
इस संबंध में नौकरशाही डॉट कॉम ने अनेक बार सलमान रागिब से उनका पक्ष जानने की कोशिश की लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया.
गौरतलब है कि नवादा लोकसभा क्षेत्र में 11 अप्रैल को चुनाव हुआ है. यहां से राजद की विभा देवी चुनावी मैदान में हैं जबकि चंदन कुमार लोजपा के प्रत्याशी हैं. लोजपा, भाजपा गठबंधन का हिस्सा है.
यह भी पढ़ें- नवादा में दंगा पर क्या बोले अशफाक रहमान
सलमान रागिब जदयू के लगातार तीन टर्म से विधान पार्षद चुने जाते रहे हैं और उनका अच्छा प्रभाव माना जाता है.

अपने गुर्गों से करवाया मारपीट

कल रात साढ़े 8 बजे नवादा के जदयू नेता सलमान रागिब साहब (एम एल सी) का फोन शमीम मंसूरी साहब के फोन पर आता है की आप सीधे सीधे वोट झोपड़ी में दिलाइये, शमीम मंसूरी साहब का कहना था की वोट के लिये हर कोई स्वतंत्र है भैय्या, हम इसके लिये किसी पर दबाव क्यूँ बनाये, बात अगर आपकी है तो मैं आपके साथ हूँ, अपनी तरफ से आपका समर्थन करूँगा।
आज बूथ पर वोट डालते समय लगभग 8:30 बजे सलमान रागिब साहब का फोन शमीम मंसूरी साहब के फोन पर आता है, सत्ता के अहंकार में चूर तीखे तेवर में सलमान रागिब साहब कहते हैं की
आप वोट दिलाइये झोपड़ी में, आप वोट दूसरी जगह दिला रहे हैं, आप बहुत गलत कर रहे हैं, उसके बाद उन्होंने कहा:
ज्यादा मत उड़ो, अपनी औकात में रहो वरना तुम्हारी औकात बता देंगे और अंजाम भुगतने के लिये तुम तैयार रहो, अंजाम बुरा होने वाला है।
नवादा पुलिस ने एफ आई आर दर्ज करने से इनकार किया है। कल कुछ प्रतिनिधिमंडल पुलिस अधीक्षक से मिलकर एफ आई आर दर्ज करने का आदेश करने हेतु मिलने वाली है।
बताते चलें कि बीते दिनों 11अप्रैल 2019 पहले चरण की वोटिंग के दौरान नावादा जिले का बहुसंख्य मुस्लिम गांव में इजरायल उर्फ बटोहिया जो सलमान रागिब उर्फ मुन्ना का के सहयोगी है।बतोहिया को इस गांव के लिए ख़ास तौर पर मुन्ना भाई चयन किया था कि वोट मेरी पार्टी को मिलता है या नहीं। मुन्ना रागिब को फोन करके के साबिर हुसैन के घर में उपेरध्रव मचवाया।और औरतों के साथ बदसलूकी भी किया बी सैफ के जवानों ने साबिर के घरों को तोड फोर किया औरतों के साथ बदसलूकी और भद्दी भद्दी गाली दी।और उनका लड़का तब्रेज़ जो सऊदी अरब में रहता है। वह घर में सोया हुआ था उसको उठकर लेगाया और खूब मार पीट की ।
यह सब एकतरफा वोट महागतबनधन को दिया जारहा था जो बाटोहिया और मुन्ना रागिब को पसंद नहीं आया।और अपनी आखिरी धौंस दिखा डाला।जिससे मुस्लिम समुदाय में काफी आक्रोश है।नावादा के मुस्लिम समुदाय से सवाल है आखिर मुन्ना भाई कब तक डरा धमका कर वोटो का बन्दर बांट करते रहेंगे।इस तरह तो लोकतंत्र बिहार में खत्म होता जाराहा है लोकतंत्र का कोई मतलब नहीं बनता।नावादा की जनता से आल इंडिया मुस्लिम बेडारी कारवां जानना चाहती है कि मुन्ना रागिब अपनी सत्ता और बाहुबली के धौंस से कब तक झुस्ते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*