जिस बिजनौर में PM ने रैली रद्द की, वहां सपा के लिए जनसैलाब

जिस बिजनौर में PM ने रैली रद्द की, वहां सपा के लिए जनसैलाब

तीन दिन पहले जिस बिजनौर में प्रधानमंत्री मोदी की रैली मौसम खराब कहकर रद्द की गई थी, उसी बिजनौर में अखिलेश-जयंत को सुनने उमड़ा जनसैलाब।

आपको जरूर याद होगा, क्योंकि बात सिर्फ तीन दिन पहले की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिजनौर में रैली करनेवाले थे। अंतिम समय में उनकी रैली यह कहकर रद्द कर दी गई कि मौसम खराब है। जबकि वहां धूप खिली थी और उसी सभा में मुख्यमंत्री योगी का हेलिकाप्टर उतरा भी। इस पर रालोद के अध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा था कि बिजनौर का मौसम खराब नहीं था, भाजपा का मौसम खराब है।

आज उसी बिजनौर में सपा प्रमुख अखिलेश यादव और रालोद प्रमुख जयंत चौधरी की रैली में जबरदस्त भीड़ जुटी, जिसका प्रमाण ऊपर दिया फोटो है।

दोनों नेताओं ने ऐसी अनेक तस्वीरें शेयर की हैं, जिसमें जनसैलाब दिख रहा है। एक ऐसी ही तस्वीर शेयर करते हुए सपा प्रमुख ने लिखा- आज कह रहा है बिजनौर, तय है बदलाव, नया दौर।

आज एक नए घटनाक्रम ने किसानों की नाराजगी बढ़ी दी है। लखीमपुर में किसानों को रौंदकर मारने के आरोपी केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष को हाईकोर्ट से जमानत मिल गई। प्रधानमंत्री मोदी ने केंद्रीय मंत्री को भी पद से हटाने की मांग को स्वीकार नहीं किया। आज किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा-लखीमपुर खीरी हत्याकांड में मंत्री अजय टेनी के बेटे आशीष को जमानत मिल गई। बीजेपी की ओछी राजनीति का ये नमूनाभर है। हमें न्याय प्रणाली पर भरोसा है। बड़ी अदालत में अपील करेंगे। किसानों पर हो रहे अत्याचार और अन्याय के लिए देशभर के किसानों और युवाओं को जागरूक करेंगे ।

आखिर क्या वजह है कि बिजनौर में प्रधानमंत्री मोदी को सुनने भीड़ नहीं जुटी। अब यह साफ हो गया है कि भाजपा के पास कहने को जनता के मूल सवालों पर कुछ भी नहीं है। प्रधानमंत्री मोदी हों या मुख्यमंत्री योगी, दोनों ही कभी रोजगार की बात नहीं करते, किसानों की आय दोगुनी करने की बात नहीं करते।

योगी के तीखे बयान पर केरल के सीएम का मीठा जवाब

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*