पहचान लीजिए चुनावी हिंसा भड़काने मेें यह सांसद पत्नी गयीं जेल

पहचान लीजिए चुनावी हिंसा भड़काने मेें यह सांसद पत्नी गयीं जेल

आम तौर पर चुनावी हिंसा में महिलाओं के नाम नहीं आते लेकिन इन्हें पहचानिये. ये हैं कामिनी शेवाले. शिव सेना सांसद राहुल शेवाले की पत्नी हैं. कामिनी शेवाले को अदालत ने चुनावी हिंसा मामले में एक साल की सजा सुनाई है.

2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान कामिने शेवले ने पति व शिव सेना नेता की तरफ से हिंसा भड़काने में शामिल थीं.मुंबई की एक अदालत ने पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान हिंसा के मामले में शिवसेना सांसद की पत्‍‌नी और पार्टी के 17 कार्यकर्ताओं को मंगलवार को एक साल जेल की सजा सुनाई गई।

 

यह भी पढ़ें- जदयू विधायक अमरनाथ गामी ने क्यों दिया इस्तीफा

दर असल उस समय कामिनी शेवाले और उनके सहयोगियों ने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कार्यकर्ताओं पर हमला किया था. इस हिंसा को रोकने में एक कॉंस्टेलब जख्मी हो गया था. इन तमाम लोगों को हत्या के प्रयास का दोषी पाया गया है.कामिनी के भड़काने पर शिव सेना कार्यकर्ताओं ने पुलिस कांस्टेबल पर जानलेवा हमला किया था. इन कार्यक्रताओं ने कांस्टेबल पर ईंट पत्थर के अलावा हाकी स्टीक से जोरदार प्रहार किया था जिस कारण कांस्टेबल बुरी तरह जख्मी हो गया था.

2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान कामिने शेवले ने पति व शिव सेना नेता की तरफ से हिंसा भड़काने में शामिल थीं.मुंबई की एक अदालत ने पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान हिंसा के मामले में शिवसेना सांसद की पत्‍‌नी और पार्टी के 17 कार्यकर्ताओं को मंगलवार को एक साल जेल की सजा सुनाई गई।

 

वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में मतदान के दिन शिवसेना और महाराष्ट्र नव निर्माण सेना (मनसे) के कार्यकर्ताओं के बीच हुए संघर्ष में एक कांस्टेबल जख्मी हो गया था। इसी मामले में शिवसेना सांसद की पत्‍‌नी और पार्टी के कार्यकर्ताओं को सजा सुनाई गई है।

या दिला दें कि शिव सेना व महाराष्ट्र नव निर्माण सेना दोनों का नेतृत्व बाला साहब ठाकरे का परिवार करता है. बाला साहब ठाकरे के निधन के बाद चचेरे भाई राज ठाकरने ने अपनी अलग पार्टी बना ली थी.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*