योगी राज में हिंदुत्ववादी नेता कमलेश तिवारी को चाकू से गोद-गोद कर मार डाला

योगी राज में हिंदुत्ववादी नेता कमलेश तिवारी को चाकू से गोद-गोद कर मार डाला

 

हिंदू महासभा के पूर्व अध्यक्ष और हिंदू समाज पार्टी का गठन करने वाले कमलेश तिवार की लखनऊ में उनके घर में घुसकर अपराधियों ने हत्या कर दी है. 

इस घटना के बाद से उस इलाके में अफरा-तफरी का माहौल बना हुआ है. आक्रोशित लोगों ने हत्या के विरोध में सड़क पर निकलकर प्रदर्शन किया और जबरन दुकानें बंद कराईं. वहीँ कमलेश के समर्थकों ने खुर्शेद बाग कालोनी में प्रदर्शन शुरू कर दिया है. जिसके बाद इलाके में भारी संख्या में पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई है.

पटना से रवि कांत की रिपोर्ट
KAMLESH TIWARI

हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) के पूर्व अध्यक्ष कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की हत्या

हत्या कर आरोपी फरार


आपको बता दें कि  हमले में घायल कमलेश तिवारी को गंभीर हालत में ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया. लेकिन इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. उधर पुलिस मामले में आरोपियों की सरगर्मी से तलाश में जुटी है.
कमलेश तिवारी को गोली मारे जाने की खबर सामने आई थी, लेकिन डॉक्टरों का कहना है कि कमलेश तिवारी का किसी धारदार हथियार से गला रेता गया था. उधर पुलिस ने मौके से एक रिवाल्वर भी बरामद की है. पुलिस का कहना है कि हत्याकांड को कमलेश तिवारी के ही किसी परिचित ने अंजाम दिया है. वारदात को अंजाम देकर आरोपी फरार हो गया है.

कश्मीरी लड़कियों पर अपमानजनक टिप्पणी करने वाले इस BJP विधायक की जन्मकुंडली पढ़ के कोई भी शरमा जायेगा

 

घर में घुसकर की हत्या


जानकारी के अनुसार कमलेश तिवारी पर खुर्शीद बाग स्थित घर में ही हमला हुआ. मौके से रिवॉल्वर बरामद होने के बाद ऐसा लग रहा था कमलेश तिवारी को सटाकर गोली मारी गई है. हालांकि बाद में डॉक्टरों ने पुष्टि की किसी धारदार हथियार से कमलेश का गला रेता गया है. अभी तक पता चला है कि कि कमलेश तिवारी से दो लोग मिलने आए थे. जिसमें एक ने भगवा कपड़ा पहना था.

अमर्यादित बयान के चलते जा चुके थे जेल

बता दें हिंदू महासभा के अध्यक्ष रहे कमलेश तिवारी को पैगंबर मोहम्मद साहब के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी करने के मामले में रासुका (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) के तहत गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था. इसके बाद 2017 विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने हिंदू समाज पार्टी का गठन किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*