Kanpur Shelter Home- यौन शोषित, एड्स पीड़ित बच्चियों पर घमासान

Shelter Home Kanpur में यौन शोषित, एड्स पीड़ित बच्चियों पर घमासान मचने के बाद मुख्यसचिव कुछ एडवायजरी जारी किया है.

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम जैसा कानपुर में यौन शोषण का क्रूर मामला सामने आने के बाद यूपी के मुख्य सचिव ने शेल्टर होम के लिए कड़े दिशानिर्देश जारी किया है.

मुख्य सचिव के ट्विटर हैंडल से जारी दिशानिर्देश में कहा गया है कि महिला संरक्षण गृह, बालगृह और बालिका गृह में सीमित लोगों को प्रवेश दिया जाये और उनका रिकार्ड रखा जाये.

उधर इस संगीन मामले के सामने आने के बाद मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कानपुर के डीएम से बातचीत की है.

57 कोरोना संक्रमित, 7 गर्भवति , एक एड्स संक्रमित

गौरतलब है कि रविवार को यूपी के कानपुर जिले में बालिका संरक्षण गृह में रहने वाली 57 कोविड-19 संक्रमित पाई गई लड़कियों में से सात लड़कियां गर्भवती भी पाई गई हैं. जिलाधिकारी ब्रह्मदेव राम तिवारी ने इसकी पुष्टि करते हुए रविवार को बताया कि गर्भवती पाई गईं पांच लड़कियां कोविड-19 से संक्रमित भी पाई गई हैं. इन लड़कियों को आगरा, एटा, कन्नौज, फिरोजाबाद और कानपुर की बाल कल्याण समितियों द्वारा कानपुर रेफर किया गया था.

नीतीशजी!मुजफ्फरपुर रेप पर पहले दरिंदों ने फिर आपकी सरकार ने बिहारियों का सर शर्म से झुका दिया

इस बीच इस मामले पर राजनीतिक बयानबाजी भी तेज हो गयी है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बालिका संरक्षण गृह के मुद्दे पर राज्य सरकार से कई सवाल किए. उन्होंने फेसबुक पर लिखा कि शेल्टर होम में कानपुर के सरकारी बाल संरक्षण गृह में 57 बच्चियों को कोरोना की जांच होने के बाद एक तथ्य आया कि 2 बच्चियां गर्भवती निकलीं और एक को एड्स पॉजिटिव निकला.

उधर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस मामले में कहा है कि कानपुर के सरकारी बाल संरक्षण गृह से आई ख़बर से उप्र में आक्रोश फैल गया है. कुछ नाबालिग लड़कियों के गर्भवती होने का गंभीर खुलासा हुआ है. इनमें 57 कोरोना से व एक एड्स से भी ग्रसित पाई गयी है, इनका तत्काल इलाज हो. सरकार शारीरिक शोषण करनेवालों के ख़िलाफ़ तुरंत जाँच बैठाए.

आप को याद दिला दें कि ऐसी ही एक घटना दो वर्ष पहले मुजफ्फरपुर शेल्टर होम में पायी गयी थी. जांच के बाद पता चला था कि यहां कि कोई तीन दर्जन लड़कियों को नियमित रूप से यौन शोषण होता था. इस मामले की सीबीआई जांच सौंपी गयी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*