खत्म हुआ इंतजार, अब स्कूल-कॉलेज खुलेंगे, शुरू होगी पढ़ाई

खत्म हुआ इंतजार, अब स्कूल-कॉलेज खुलेंगे, शुरू होगी पढ़ाई

कोविड की सबसे बुरी मार स्कूलों-कॉलेजों पर पड़ी है। पिछले साल लॉकडाउन से ही ये बंद हैं। आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इन्हें खोलने का आदेश जारी कर दिया।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज बिहार के सभी विश्वविद्यालय, 11 वीं और 12 वीं कक्षावाले स्कल तथा सभी कॉलेजों को 50 फीसदी उपस्थिति के साथ खोलने का आदेश जारी कर दिया। मुख्यमंत्री ने लगातार तीन ट्वीट करके यह जानकारी सार्वजनिक की।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लगातार बंदी की मार झेल रहे रेस्टोरेंट को भी अब खोलने का आदेश जारी कर दिया। इसके साथ ही रेस्टोंरेट में काम करनेवाले शेफ और वेटर, जिन्हें अपने काम से हाथ धोना पड़ा था, अब फिर से अपने काम पर वापस आ सकेंगे। इससे बेरोजगार हुए लोगों को काम मिल सकेगा।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट किया- कोरोना स्थिति की समीक्षा के बाद सभी सरकारी, गैर सरकारी कार्यालय को सामान्य रूप से खोलने का निर्णय लिया गया है। टीका प्राप्त आगंतुक कार्यालय में प्रवेश पा सकेंगे। विश्वविद्यालय, सभी कॉलेज, तकनीकि शिक्षण संस्थान, सरकारी प्रशिक्षण संस्थान, ग्यारहवीं एवं बारहवीं तक के विद्यालय 50% छात्रों की उपस्थिति के साथ खुलेंगे। शैक्षणिक संस्थानों के व्यस्क छात्र-छात्राओं, शिक्षकों एवं कर्मियों के लिए टीकाकरण की विशेष व्यवस्था होगी।

रेस्टोरेंट एवं खाने की दुकान का संचालन 50% बैठने की क्षमता के साथ हो सकेगा। अभी भी सावधानी की जरूरत है।

रामविलास की लिगेसी की जंग; पारस पर भारी पड़े चिराग

मुख्यमंत्री का यह निर्णय कोविड के घटते मामलों को देखकर उठाया गया है। उनके इस निर्णय से न सिर्फ फिर से पढ़ाई-लिखाई शुरू हो पाएगी, साथ ही बिजनेस सेक्टर में भी गति बढ़ेगी। इस निर्णय से छात्रों में खुशी देखी गई। अबतक ऑनलाइन पढ़ाई हो रही थी, लेकिन वह उतना कारगर नहीं थी, जितना क्लास रूम की पढ़ाई होती है। 11 वीं और 12 वीं कक्षा वाले स्कूलों के खुलने से अब माध्यमिक स्कूलों के खुलने की भी उम्मीद जगी है। इन स्कूलों में पढ़ानेवाले हजारों शिक्षक बेरोजगार बैठे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*