खुदाबख्श लाइब्रेरी को तोड़ने का होगा विरोध : पीपुल्स फ्रंट

खुदा बख्श लाइब्रेरी को तोड़ने का होगा विरोध : पीपुल्स फ्रंट

ऐतिहासिक धरोहर ख़ुदाबख्श ओरियंटल पब्लिक लाइब्रेरी के एक हिस्से को तोड़ने के निर्णय का विरोध बढ़ता जा रहा है। पीपुल्स फ्रंट लाइ्ब्रेरी बचाने के लिए आगे आया।

देश की धरोहर खुदबख्श लाइब्रेरी के एक हिस्से को तोड़ने के खिलाफ विरोध बढ़ता जा रहा है। आज ऑल इंडिया पीपुल्स फ्रंट ने एक बैठक करके लाइब्रेरी के एक हिस्से को तोड़ने पर एतराज जताया और कहा कि सरकार नहीं मानी, तो लाइब्रेरी बचाने के लिए आंदोलन होगा। बैठक पीपुल्स फ्रंट के प्रदेश प्रवक्ता और पूर्व विधायक रमेश कुशवाहा के पटना स्थित आवास पर हुई, जिसमें समाज के प्रबुद्ध वर्ग के लोग शामिल थे।

तेजस्वी का मोदी पर हमला, रोजगार से भाग नहीं सकते

पीपुल्स फ्रंट के प्रदेश प्रवक्ता रमेश कुशवाहा ने कहा कि बिहार सरकार के पुल निर्माण विभाग द्वारा कारगिल चौक से एनआईटी मोड़ तक फ्लाईओवर के निर्माण के लिए खुदाबख्श ओरियंटल पब्लिक लाइब्रेरी के कर्जन रीडिंग रूम और गार्डन को तोड़ने का निर्णय लिया गया है। ऑल इंडिया पीपुल्स फ्रंट ने बैठक में सरकार के इस निर्णय का विरोध किया।

पीपुल्स फ्रंट ने कहा कि शैक्षणिक व सांस्कृतिक गतिविधियों के रूप में पूरी दुनिया मे ख्यातिप्राप्त इस लाइब्रेरी को किसी भी प्रकार का नुकसान पहुंचना एआईपीफ़ को कतई मंजूर नहीं है। ऐसे भी लाइब्रेरी का कर्जन रीडिंग रूम एक हेरिटेज भवन है और इसकी पूरी सुरक्षा की संवैधानिक जवाबदेही राज्य सरकार की है।

तब तबलीगी की कड़ी निंदा, आज कुंभ पर सामूहिक चुप्पी क्यों

बैठक में लंबे समय से जनवादी आंदोलनों से जुड़े प्रसिद्धि चिकित्सक पीएन पाल, जेपी सेनानी परमानन्द सिंह, अधिवक्ता अशोक चंद्रवंशी, अरवल के जिलाध्यक्ष अशोक वर्मा, सिवान के जिलाध्यक्ष विजय कुशवाहा, भीष्म सिंह कुशवाहा, यशवंत चौहान आदि मौजूद थे।

मालूम हो कि ऑल इंडिया पीपुल्स फ्रंट दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में देशभर में अभियान चला रहा है। पीपुल्स फ्रंट ने बिहार के कई जिलों में तीन कृषि कानूनों के खिलाफ सभा और बैठकें की हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*