किसानों ने ट्रेंड कराया दंगे मातरम, लश्कर-ए-आरएसएस

किसानों ने ट्रेंड कराया दंगे मातरम, लश्कर-ए-आरएसएस

राकेश टिकैत पर कल हमला हुआ। आज हरियाणा में खट्टर का हुआ भारी विरोध। आज किसान मोर्चा ने दंगे मातरम और लश्कर-ए-आरएसएस के नाम से पोस्टर जारी किया।

कल राजस्थान में किसान पंचायत करने जा रहे किसान नेता राकेश टिकैत पर गोलियां चलाई गईं। उनकी कार में गोलियों के निशान पूरे देश ने देखा। किसान नेताओं ने कहा कि हमला भाजपा और संघ के लोगों ने किया है। हमले के बाद राकेश टिकैत ने कहा कि किसानों पर हमला होगा, तो उत्तर प्रदेश में भाजपा नेता गांव में घुस नहीं पाएंगे। उनका भी विरोध होगा।

इस बीच हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को आज अपने ही प्रदेश में किसानों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा। जहां उनका हैलिकाप्टर उतरना था, वहां हजारों किसान जमा हो गए। वे काले झंडे लेकर खट्टर का विरोध कर रहे थे। किसानों पर पुलिस ने लाठी चार्ज किया। युवा कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास बी. वी. @srinivasiyc ने किसानों के भारी विरोध का वीडियो भी जारी किया है। खबर लिखे जाने तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया कि खट्टर का कार्यक्रम हुआ या रद्द हो गया।

आरएसएस पर लगाया देश बांटने का आरोप

राकेश टिकैत पर हमले के विरोध में आज किसानों ने लश्कर-ए-आरएसएस #Lashkar_e_RSS ट्रेंड कराया। सबसे पहले आज सुबह में किसान एकता मोर्चा ने लश्कर-ए-आरएसएस का एक पोस्टर जारी किया। इसमें सबसे ऊपर लिखा है-दंगे मातरम।

गजब! नीतीश केयर्स शराब बनानेवाली सब्जी का कर रहा प्रचार

दंगे मातरम के नीचे मोटे अक्षरों में लश्कर-ए-आरएसएस लिखा है। फिर नीचे लिखा है इन कार्यों के लिए संपर्क करें- किसानों पर हमला के लिए, पेट्रोल बम फेंकने के लिए, देश को दिग्भ्रमित करने के लिए, किसान आंदोलन के समर्थकों पर हमले के लिए, किसानों का अपमान करने के लिए, राजनीतिज्ञों को खरीदने के लिए, देश को बांटने तथा समाज में घृणा फैलाने के लिए।खबर लिखे जाने तक सवा लाख से ज्यादा ट्विट हो चुके हैं।

जवाब में भाजपा समर्थकों ने आरसएस देश की शान हैशटैग चलाया, जिसमें वे किसानों के सवालों का जवाब तो नहीं दे रहे, पर बता रहे हैं कि कितनी शाखाएं हैं, कितना बड़ा संगठन है और बाढ़ आने पर कैसे सेवा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*