किसने बनाया राजपूत व पठान रेजिमेंट, RJD व ML ने किसे घेरा

किसने बनाया राजपूत व पठान रेजिमेंट, RJD व ML ने किसे घेरा

RJD ने कहा भाजपा मस्जिदों पर बुलडोजर चला रही, वहीं कुंवर सिंह ने मस्जिदें बनवाईं। माले ने बताया, उनके सहयोगी शहीद जुल्फीकार ने बनाया पठान व राजपूत रेजिमेंट।

राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने कहा कि मुसलमानों के घरों और मस्जिदों पर बुलडोजर चलानेवाली भाजपा वीर कुंवर सिंह पर नकली फूल चढ़ा रही है। बाबू कुंवर सिंह जी सामाजिक एकता और भाईचारा के प्रतीक थे। जहानाबाद के काको निवासी शहीद काजी जुल्फिकार अली खाँ उनके खास सिपाहसलार थे। इनके अतिरिक्त भी उनकी टीम में सहयोगी और सलाहकार के रूप में बड़ी संख्या में मुसलमान, दलित और पिछड़े समुदाय के लोग थे। सैकड़ों मुस्लिम सैनिकों ने उनके नेतृत्व में लड़ते हुए शहादत दी। नफरत और घृणा की राजनीति करने वाले और मस्जिद पर बुलडोजर चलाने वाले को जान लेना चाहिए कि बाबू कुंवर सिंह जी ने आरा और जगदीशपुर में कई मस्जिदों का निर्माण कराया था। भोजपुर जिला के पीरो में नूर शाह फकीर को पाँच बीघा लगान मुक्त जमीन दी।

उधर माले नेता डॉ. कमलेश शर्मा ने बताया कि अंग्रजों के खिलाफ विद्रोह में बाबू कुंवर सिंह लगातार काजी जुल्फिकार अली से पत्र व्यवहार कर रहे थे। जुल्फिकार अली ने जहानाबाद क्षेत्र में पठान रेजिमेंट तथा राजपूत रेजिमेंट का गठन किया था। जुल्फिकार साहब गोंडा-आजमगढ़ की लडाई में शहीद हो गये थे। डॉ. शर्मा ने कुंवर सिंह के तीन पत्रों के मजमून का भी जिक्र किया। माले की भोजपुर इकाई ने जिले के कई प्रखंडों में आज अमित शाह वापस जाओ तथा वीर कुंवर सिंह का भाजपाकरण बंद करो नारे के साथ प्रदर्शन किया।

माले नेता ने कहा-1857के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के महानायक बाबू वीर कुंवर सिंह व मगध के महानायक खभैनी निवासी बाबू जीवधर सिंह, इसमाइलपुर निवासी शहीद जयप्रकाश ओझा, ठाकुर ओझा, जहानाबाद के कलपा निवासी शहीद रामसहाय सिंह, सिद्धा सिंह व जागा सिंह, काजी-दौलतपुर निवासी शहीद जुल्फिकार अली तथा घोसी के लखावर निवासी शहीद शंकर सिंह बाभन व सुखलाल ग्वाला अमर रहें।

राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने कहा-राजद शासनकाल में ही तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद की पहल पर आर ब्लॉक चौराहे पर बाबू कुंवर सिंह की प्रतिमा लगाई गई। आरा में उनके नाम पर विश्वविद्यालय खोला गया। जगदीशपुर किला और आरा हाउस का जीर्णोद्धार कराया गया। राजद महागठवंधन की सरकार बनने पर तत्कालीन उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने पथ निर्माण मंत्री की हैसियत से भोजपुर और छपरा को जोड़ने वाले पुल का नामकरण बाबू कुंवर सिंह जी के नाम पर किया।

दस्तावेज से हुआ साबित, BSP के कारण BJP को मिली यूपी में सत्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*