क्या देश में पूर्ण लॉकडाउन-21 लगनेवाला है

क्या देश में पूर्ण लॉकडाउन-21 लगनेवाला है

सरकार मान रही है कि एक दिन में चार लाख कोरोना केस आ रहे हैं, पर वास्तविकता कुछ और ही है। सच्चाई तो श्मशान घाट में जाने पर दिख रही है।

दिल्ली- बनारस के श्मशान घाट हों या पटना के, चिताओं की कतार खत्म नहीं हो रही। यहां शव का अंतिम संस्कार करनेवाले लोग थक चुके हैं। सरकार कह रही है कि चार लाख कोरोना पॉजिटिव रोज हो रहे हैं, पर वास्विकता कुछ और है। गांवों में बुखार का प्रकोप बढ़ा है। साधारण बुखार के बाद लोगों की मौत हो रही है।

इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन के मुख्य स्वास्थ्य सलाहकार और इनफेक्शन डीजिज के बड़े विशेषज्ञ एंथनी फाउसी Anthony Fauci  ने भारत को कुछ सप्ताह के लिए पूर्ण लॉकडाउन करने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि जिस तरह भारत में स्वास्थ्य व्यवस्था फेल हो गई है, उसमें तुरत लॉकडाउन करना जरूरी है। इससे कोरोना के तेजी से फैलाव को नियंत्रित करना संभव हो सकेगा।

एंथनी ने इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कहा कि पूर्ण लॉकडाउन से भारत को एक अवसर मिलेगा जिसमें वह तात्कालिक और दूरगामी कदम उठा सकता है, जिससे कोरोना पर नियंत्रण पाना मुमकिन होगा।

यूपी-बिहार के गांवों में बुखार के मरीज अचानक क्यों बढ़ गए

उन्होंने कहा कि दवा, ऑक्सीजन, बेड की व्यवस्था करना होगा, टीकाकरण पर भी जोर देना होगा, लेकिन सबसे जरूरी है आज जो हाहाकार मचा है, उसे नियंत्रित करना। इसके लिए पूर्ण लॉकडाउन2021 लगाना जरूरी है।

इस बीच दिल्ली में लॉकडाउन को एक सप्ताह के लिए बढ़ा दिया गया है। उधर प. बंगाल में भी कोरोना ने तेजी से पांव पसारा है। अब वहां भी कई तरह की पाबंदियों की घो,णा की गई है।

वैज्ञानिकों ने दूसरी लहर की चेतावनी दी थी, मोदी सरकार ने नहीं सुनी

बिहार में भी स्थिति नियंत्रण से बाहर हो गई है। अब भी बाजारों में सोशल डिस्टेंसिंग का अभाव देखा जा सकता है। बिहार के गांवों में भी रहस्यमय बुखार का प्रकोप देखा जा रहा है। लोग बड़ी संख्या में मर रहे हैं। बिहार में 18 वर्ष से अधिक के लिए टीकाकरण भी शुरू नहीं हो पाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*