रामविलास पासवान व लोजपा को बड़ी क्षति, नहीं रहे सांसद रामचंद्र पासवान

लोकजन शक्ति पार्टी के सांसद व रामविलास पासवान के भाई रामचंद्र पासवान का आज रविवार दो पहर में देहांत हो गया.रामंचद्र पासवान बिहार के समस्तीपुर से सांसद और लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के वरिष्ठ नेता थे.

उन्हें 12 जुलाई की रात दिल का दौरा पड़ा था, जिसके बाद उन्हें दिल्ली के राम मनोहर लोहिया (आरएमएल) अस्पताल में भर्ती कराया गया था.
इस संबंध में लोजपा संसदीय दल के नेता व रामविलास के बेटे चिराग पासवान ने ट्विट करते हुए लिखा कि बड़ी दुख के साथ सूचित करना पड़ रहा है कि उनके आदरणीय चाचा व समस्तीपुर के सांसद रामचंद्र पासवान का निधन हो गया है.
रामचंद्र पासवान का पार्थिव शरीर राम मनोहर लोहिया अस्पताल से उनके दिल्ली आवास राजेन्द्र प्रसाद रोड ले जाया जाएगा. जिसके बाद कल पटना में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. चिराग पासवान ने अपने चाचा रामचंद्र पासवान के निधन की जानकारी दी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामचंद्र पासवान के निधन पर ट्वीट कर शोक जताया.

रामंचद्र पासवान के बारे में

रामचंद्र पासवान का जन्म 1962 में हुआ था. वे तीन बार सांसद चुने गये थे. रामविलास पासवान के भाई थे. मैट्रिक तक की शिक्षा प्राप्त करने वाले रामचंद्र पासवान  पहली बार 1999 में रोसड़ा से  सांसद बने थे. रामचंद्र पासवान की पत्नी सुनैयना कुमारी के साथ-साथ उनके परिवार में दो पुत्र एवं एक पुत्री भी हैं। दूसरी बार 2004 में भी वे चुनाव जीते।  तीसरी बार लोकसभा के लिए वर्ष 2014 में लोजपा के टिकट पर चुने गए। जबकि वहीं चौथी बार जब सांसद बने तो इनकी जीत का अंतर ढाई लाख से अधिक रहा।
इस बीच रामचंद्र पासवान के निधन पर अनेक नेताओं ने शोक व्यक्त किया है. रामविलास पासवान ने इसे अपूर्णीय क्षति करार दी है तो चिराग पासवान ने उन्हें अफना गार्जियन बताया है. दूसरी तरफ भाजपा के प्रवक्ता निखिल आनंद ने भी उनकी मौत पर शोक संवेदना व्यक्त की है.

राजकीय सम्मान से होगा अंतिम संस्कार

इस बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शोक संदेश में कहा है कि उनकी मौत राजनीति के लिए अपूर्णीय क्षति है. उन्हेंने पासवान को सरल स्वभाव का व्यक्ति बताया. उन्होंने कहा कि उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जायेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*