Lockdown में 12 करोड़ की नौकरी गयी,डेढ़ करोड़ भुखमरी के शिकार

राजद के उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह Raghuvasnh prasad singh ने कहा की लाकडाउन में 12 करोड़ की नौकरी गयी,13 करोड़ लोग बीपीएल में आ गए जबकि एक करोड़ चालीस लाख लोग भुखमरी के शिकार हो गये.

Raghuvansh prasad singh ने अपने आवास पर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कहा की पीएम मोदी द्वारा बीस लाख करोड़ के पॅकेज की घोषणा भरी जुमलेबाज़ी है. असल में यह मात्र पौने दो लाख करोड़ का ही पैकेज है, शेष सब बजटीय उपबंध है।

रंघुवंश ने पीएम मोदी को बताया झांसा राम, कहा- ‘नोटबंदी फेल हुई तो नकबंदी पर उतर आये’

उन्होंने ने लॉकडाउन को सुल्तानी आफत बताते हुए कहा की यह सुविचारित नहीं था। उन्होंने ने कहा राज्य सरकार प्रवासियों को लाने में गाइडलाइन का इंतजार करती रही और उन्हें संक्रमित होने को छोड़ दिया।

राजद नेता पटना में अपने आवास पर गुरुवार को प्रेस से बात कर रहे थे।उन्होंने ने कहा कि सभी देशों ने लॉकडाउन किया। लेकिन लोगों से जगह पर जाने का समय दिया। अचानक घोषणा से कोई यात्रा में, कोई होटल में, कोई अस्पताल में फंसा रहा।

रघुवंश प्रसाद ने खा लॉकडाउन सुल्तानी आफत साबित हुआ। 12 करोड़ की नौकरी गई। 13 करोड़ लोग बीपीएल में आ गए। एक करोड़ 40 लाख भुखमरी के कगार पर चले गये।

उन्होंने लाक डाउन की घोषणा को बिना विचार के किये फैसला करार दिया और कहा इस कारन करोड़ों लोगों को भरी संकट का सामना करना पड़ा.

उधर राजद ने बिहार सर्कार द्वारा किये गए खर्च की जाँच करने की मांग की है.

गौरतलब है कि पिछले दिनों नीतीश कुमार ने कहा था लाक डाउन के दौरान बिहार सर्कार ने आठ हज़ार करोड़ रूपये श्रमिकों पर खर्च किये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*