बिहार से गिरफ्तार हुए लोकसभा के पहले प्रत्याशी, वजह जान कर दंग रह जायेंगे

बिहार में दारू बंदी का असर देखिये नशे की हालत में पहुंच गए नामांकन करने, हुए गिरफ्तार

बिहार सरकार की दारू बंदी का असर देखिये.नशे की हालत में पहुंच गए नामांकन कर. पुलिनेस ने किया गिरफ्तार. बताते चलें कि लोकतंत्र का सबसे बड़ा महापर्व चुनाव के आते ही पूरे देश मे आदर्श आचार संहिता लग जाती है.  पूरे चुनाव में सभी प्रत्याशी से लेकर सभी राजनीतिक दल भी आदर्श आचार संहिता का पूरा पालन करते है. इसके बाबजूद पूर्णिया में नामांकन के आखिरी दिन राजीव कुमार सिंह नाम के एक निर्दलीय प्रत्याशी ने नशे की हालत में नामांकन करने पहुंच गए.

पूर्णिया से रोहित साहनी की रिपोर्ट

बताते चलें कि बिहार में शराबबंदी पूरी तरह लागू है.आदर्श आचार संहिता लगी हुई है.इसके बाबजूद  मंगलवार को पूर्णिया समाहरणालय में उस समय अफरा-तफरी का माहौल बन गया, जब राजीव कुमार सिंह नाम के एक निर्दलीय प्रत्याशी ने नशे की हालत में नामांकन को पहुंचे. बताते चलें कि जब राजीव सिंह नामांकन करने जिला समाहरणालय पहुंचे तो उन्हें हेल्प डेस्क में जाने की कहा गया.
हेल्प डेस्क पहुंचने के बाद वहां मौजूद समाहरणालय कर्मी को उनके मुंह से शराब की बदबू मिली. उसके बाद तत्काल इसकी जानकारी सदर एसडीओ डॉ विनोद कुमार को दी गई.सदर एसडीओ ने अविलम्ब इसकी सूचना उत्पाद अधीक्षक ओमप्रकाश को दी.उत्पाद अधीक्षक ने अविलम्ब ने इसकी सूचना के0 हाट थाने को दी. सूचना मिलते ही उत्पाद अधीक्षक एवं के0 हाट थाने की पुलिस वहां पहुंच गई.
लेकिन तबतक इसकी सूचना जिलापदधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी प्रदीप कुमार झा को दे दी गई.लेकिन पुलिस और उत्पाद विभाग ने राजीव सिंह के नामांकन होने तक बाहर इंतजार करते रहे.जैसे ही नामांकन देकर निर्दलीय प्रत्याशी राजीव कुमार सिंह बाहर आते है.उसी वक्त उत्पाद अधीक्षक और पुलिस उन्हें गिरफ्तार कर ब्रेथ एनेलाइजर लगाकर चेक करते है.जिसमे अल्कोहल की मात्रा 117.6 मिला.
पुलिस ने उस निर्दलीय प्रत्याशी राजीव कुमार सिंह को गिरफ्तार कर विधिसम्मत कारवाई कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*