महाराष्ट्र की तरह झारखंड में सरकार गिराने की साजिश का फूटा फांडा

महाराष्ट्र की तरह झारखंड में सरकार गिराने की साजिश का फूटा फांडा

झारखंड के 3 MLA की गिरफ्तारी के बाद मामला शांत पड़ने के बजाय और गर्म हो गया है। कांग्रेस के एक अन्य MLA ने कहा 10 करोड़ और मंत्री पद का उन्हें भी था ऑफर।

झारखंड के तीन विधायक लगभग 50 लाख रुपए कैश के साथ गिरफ्तार हुए। अब कांग्रेस के एक अन्य विधायक ने पुलिस में केस दर्ज कराया है कि उन्हें भी 10 करोड़ रुपए कैश और मंत्री पद का ऑफर दिया गया था, लेकिन उन्होंने मना कर दिया। आज कांग्रेस और जेएमएम दोनों ने एक साथ प्रेस वार्ता में कहा कि जनता द्वारा चुनी गई सरकार को गिराने की साजिश थी। दोनों दलों ने भाजपा पर सीधा आरोप लगाया है कि वह हेमंत सरकार को गिराने की साजिश कर रही थी।

बेरमो के विधायक कुमार जयमंगल सिंह ने पत्र लिख कर शिकायत की है कि कैश के साथ पकड़े गए तीनों विधायकों नमन विक्सल कोंगाडी, डा इरफान अंसारी और राजेश कच्छप ने उनसे भी संपर्क किया था। विधायकों ने उन्हें कोलकाता बुलाया था। तीनों विधायक उन्हें गुवाहाटी ले जाना चाहते थे। वहां के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा से मिलने की योजना थी। इरफान ने कहा था कि उन्हें पूरी रकम मिल गई है। मंत्री पद भी तय हो गया है। इरफान के मुताबित उन्हें स्वास्थ्य मंत्री बनाया जाएगा। वहां मंत्री पद फाइनल हो जाएगा। पत्र में लिखा है कि तीनों विधायकों ने कहा कि एक बार गुवाहाटी चलें, तो उनके लिए भी मंत्री पद फाइनल कर दिया जाएगा।

कांग्रेस और जेएमएम दोनों ने जिस प्रकार आक्रामक रूख अख्तियार करते हुए भाजपा को घेरा है, उससे भाजपा की परेशानी बढ़ी है। दोनों दलों का कहना है कि भाजपा हेमंत सरकार को पिछले दो साल से गिराने की फिराक में है, लेकिन उसे सफलता नहीं मिल पा रही है। दोनों दलों ने कहा कि वे झारखंड को महाराष्ट्र बनने नहीं देंगे।

झुकी सरकार, सांसदों का निलंबन वापस, महंगाई पर शुरू हुई चर्चा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*