नीतीश के जाने से फर्क नहीं, तेजस्वी का कद बढ़ा : ममता

नीतीश के जाने से फर्क नहीं, तेजस्वी का कद बढ़ा : ममता

नीतीश के जाने से फर्क नहीं, तेजस्वी का कद बढ़ा : ममता। कहा, इंडिया गठबंधन को कोई नुकसान नहीं। नीतीश की प्रतिष्ठा खत्म। तेजस्वी ही बिहार को ले जाएंगे आगे।

नीतीश कुमार के इंडिया गठबंधन छोड़कर भाजपा के साथ जाने की बात अब लगभग फाइनल हो चुकी है। इस बीच बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बड़ी बात कही है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के छोड़ कर जाने से इंडिया गठबंधन पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। नीतीश कुमार को बिहार की जनता देख रही है। उनकी प्रतिष्ठा खत्म हो चुकी है। ममता बनर्जी ने कहा कि तेजस्वी यादव का कद बढ़ा है। वे अन्य दलों के साथ मिल कर बिहार में इंडिया गठबंधन को आगे ले जाएंगे। उनका कद बढ़ा है। ममता बनर्जी के इस बयान के बाद इंडिया गठबंधन का मनोबल बढ़ा है। ममता ने यह भी दिखाया कि वे भले ही बंगाल में अकेले लड़ना चाहती हैं, लेकिन इंडिया गठबंधन के पक्ष में हैं। बंगाल में उनका स्टैंड वहां के स्थानीय समीकरणों के लिहास से उचित भी माना जा रहा है। माना जा रहा है कि ममता बनर्जी और कांग्रेस तथा सीपीएम अलग-अलग लड़े, तो इससे सरकार विरोधी भावनाएं अकेले भाजपा के साथ नहीं जाएंगी, बल्कि बंट जाएंगी।

बंगाल की मुख्यमंत्री ने तेजस्वी यादव के पक्ष में बयान देने के साथ ही केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ नया मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने केंद्र सरकार को एक हफ्ते का अल्टीमेटम दिया है। कहा है कि एक हफ्ते के भीतर बंगाल का सारी बकाया राशि केंद्र भुगतान करे। अगर केंद्र सरकार बंगाल का हिस्सा नहीं देती है, तो ङप्थे भर के बाद सड़क पर आंदोलन होगा। उन्होंने टीएमसी कार्यकर्ताओं को भी आंदोलन के लिए तैयार रहने का आदेश दे दिया है। ममता का नया तेवर भाजपा को परेशानी में डाल सकता है। ममजा बनर्जी केंद्र सरकार के खिलाफ लोगों को एकजुट कर सकती है कि केंद्र बंगाल के साथ अन्याय कर रहा है। उनके इस नए और आक्रामक रुख से बंगाल की राजनीति प्रभावित हो सकती है।

इधर बिहार में इंडिया गठबंधन ने उम्मीद नहीं छोड़ी है। राहुल गांधी ने जीतनराम मांझी से बात की है। मांझी लालू प्रसाद के भी संपर्क में हैं। यूपी में अखिलेश यादव ने कहा कि कांग्रेस के साथ सीटों का समझौता हो गया है और हम मिल कर चुनाव लड़ेंगे।

राहुल ने मांझी को किया फोन, दिया बड़ा ऑफर, क्या बोले तेजस्वी