मानव श्रृंखला के लिए राजद ने जारी किया पोस्टर, माले भी तैयार

मानव श्रृंखला के लिए राजद ने जारी किया पोस्टर, माले भी तैयार

तीन कृषि कानूनों की वापसी और अन्य मांगों के लिए 30 जनवरी को प्रदेशभर में मानव श्रृंखला बनेगी। आज राजद ने पोस्टर जारी कर दिया। माले भी तैयारी में जुटा।

तीन कृषि कानूनों को रद्द करने के लिए दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में बिहार में 30 जनवरी को मानव श्रृंखला बनेगी। इसके लिए राजद ने आज पोस्टर जारी कर दिया। पोस्टर में तेजस्वी यादव आमसभा को संबोधित कर रहे हैं। पोस्टर में नारा दिया गया है कि किसान, मजदूर, बेरोजगार, युवा, महिलाएं सभी आगे आएं और अहंकारी सरकार को झकझोर कर जगाएं।

राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने बताया कि मानव श्रृंखला को ऐतिहासिक बनाने के लिए हर जिले में व्यापक तैयारी चल रही है। इसमें तीन कृषि कानूनों को रद्द करने के साथ ही बिहार की विशेष मांग-रोजगार, अच्छी पढ़ाई, दवाई को भी जोड़ा गया है।

उधर भाकपा माले के पोलित ब्यूरो के सदस्य धीरेंद्र झा ने बताया कि मानव श्रृंखला का आह्वान महागठबंधन ने किया है। 30 जनवरी को राज्य से गुजरनेवाले सारे एनएच, स्टेट हाईवे पर मानव श्रृंखला बनोगी। इस दिन सभी जिला और प्रखंड मुख्यालयों पर भी मानव श्रृंखला बनाई जाएगी।

पूर्व जज ने राष्ट्रीय ध्वज के असल अपमानकर्ता की खोली पोल

धीरेंद्र झा ने बताया कि केंद्र सरकार से तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग के अलावा बिहार के किसानों की मांग को भी शामिल किया गया है। महागठबंधन की मांग है कि प्रदेश में फिर से एपीएमसी व्यवस्था लागू की जाए। मालूम हो कि जदयू-भाजपा सरकार ने 2006 में एपीएमसी को भंग कर दिया था।

माले नेता ने कहा कि बिहार में एपीएमसी समाप्त किए जाने से राज्य के किसानों का करोड़ों का नुकसान हो चुका है। बिहार के किसानों को एपीएमसी का लाभ देश में सबसे कम मिल पाता है।

मानव श्रृंखला की सफलता के लिए महागठबंधन में शामिल दलों की बैठक जल्द ही पटना में होगी, जिसमें तैयारी को अंतिम रूप दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*