लापता डॉ. संजय की तलाश में Bihar Police ने बनाई SIT

लापता डॉ. संजय की तलाश में Bihar Police ने बनाई SIT

एनएमसीएच के फार्माकोलॉजी डिपार्टमेंट के हेड डॉ. संजय कुमार बुधवार की रात से लापता हैं। उनकी कार गांधी सेतु पर लावारिस मिली। Bihar Police ने बनाई SIT।

पटना नालंदा मेडिकल कॉलेज के एग्जामिनेशन कंट्रोलर और फार्माकोलॉजी डिपार्टमेंट के हेड ज. संजय कुमार बुधवार की रात से लापता है। वे घर से कह कर निकले कि इंस्पेक्शन करने मुजफ्फरपुर जा रहे हैं। लेकिन वे नहीं लौटे, तो पत्नी ने दर्ज कराई एफआईआर। पुलिस ने डॉ. संजय की कार बरामद कर ली है। कार गांधी सेतु पर लावारिस और लॉक मिली। कार में उनके मोबाइल भी मिले। बिहार पुलिस ने शुक्रवार को डॉ. संजय की तलाश के लिए विशेष जांच दल बनाया है।

बिहार पुलिस ने बताया कि गुमशुदा डा. संजय कुमार की सकुशल बरामदगी को उच्च प्राथमिकता देते हुए एक विशेष जांच दल का गठन किया गया है। कार को गांधी सेतु के पिलर नंबर 47 से हाजीपुर-पटना लेन में लाॅक अवस्था में बरामद किया गया है। डा. संजय कुमार के आवास से लेकर जहां कार बरामद हुई है, वहां तक का सीसीटीवी फूटेज का सूक्ष्म विश्लेषण किया गया है। FSL की टीम द्वारा कार की फोरेंसिक जांच की जा रही है कि कोई सुराग मिल सके। स्थानीय व अन्य आधे दर्जन से अधिक लोगों से पूछताछ की गई है।

डॉ. संजय की पत्नी प्रो. सलोनी ने शुक्रवार को पटना के पत्रकारनगर थाने में अपहरण की आशंका जताते हुए एफआईआर दर्ज कराई है। हालांकि अभी तक किसी तरह की फिरौती की मांग नहीं की गई है। पुलिस हर एंगल से जांच कर रही है। डा संजय और उनकी पत्नी के बीच अंतिम बात 7.40 में हुई, जिसमें डॉ. संजय ने बताया कि उन्होंने कार को एनएमसी में पार्क कर दी है। उसके बाद फिर बात नहीं हुई, जबकि कार गांधी सेतु से बरामद हुई। बिहार पुलिस के अनुसार कार हाजीपुर-पटना लेन से बरामद हुई। सवाल यह भी है कि उस लेन में वे कैसे पहुंचे।

घर में काम करने वाले छोटू ने बताया कि साहब ने खाना बनाने से मना किया था कि पार्टी में जाना है। वहीं गार्ड के अनुसार साहब ने कहा था कि दस बजे तक नहीं लौटा, तो गेट बंद कर देना। पुलिस ने एसआईटी का गठन कर दिया है और उम्मीद की जानी चाहिए कि पुलिस जल्द ही डॉ. संजय कुमार को खोज निकालेगी।

BJP झूठ फैला रही, हम पर विश्वास नहीं, तो गृहमंत्री से जांच करा लें