महाराष्ट्र में धमाका कर माओवादियों ने मोदी के बढ़बोलेपन को मिट्टी में मिला दिया

महाराष्ट्र में धमाका कर माओवादियों ने मोदी के बढ़बोलेपन को मिट्टी में मिला दिया

महाराष्ट्र के गोडचिरोली में बम धमाका कर माओवादियों ने न सिर्फ 15 जवानों को शहीद कर दिया बल्कि मोदी के बढ़बोलेपन को मिट्टी में मिला दिया.

इर्शादुल हक, एडिटर नौकरशाही डॉट कॉम

माओवादियों ने यह हमला, पीएम नरेंद्र मोदी के उस दावे के बाद किया है जिसमें उन्होंने दोनों हाथ लहराते हुए चुनौती भरे लहजे में कहा था कि 2014 के बाद बम धमाके बंद हो गये हैं.

इस निर्मम धमाके में पुलिस वैन के ड्राइवर के साथ 15 पुलिस वालों की जान चली गयी है. याद रखने की बात है कि इससे पहले छत्तीसगढ़ के अनेक इलाकों में भी धमाके हो चुके हैं और दर्जनों जवानों ने अपनी जान गंवा दी है.

पीएम मोदी के इस बढ़बोलेपन के चंद दिनों बाद ही उसी महाराष्ट्र के गोडचिरोली में माओवादियों ने न सिर्फ हमारे जवानों के शरीर के चिथड़े उड़ा दिये बल्कि मोदी के बढ़बोले दावे की भी धज्जी उड़ा दी.

 

कांग्रेस ने कहा झूठे हैं मोदी

हालांकि पुलवामा में तीन दर्ज सैनिकों की हत्या भी बस कुछ महीने पहले हो चुकी है. उसके पहले भी पठानकोट आर्मी बेस पर आतंकवादियों ने हमला करके जवानों को मार डाला. इतना ही नहीं आय दिन कश्मीर में आतंकवादी हमले होते रहे हैं. इन तमाम सच्चाइयों के बावजूद प्रधान मंत्री मोदी ने सारी सच्चाइयों को ताक पर रखते हुए चुनावी फायदे के लिए लोगों को गुमराह किया और यहां तक कह डाला कि 2014 के बाद से धमाके नहीं होते क्योंकि उन्हें पता चल चुका है कि मोदी घर में घुस कर बदला लेता है.

 

मोदी के इस बयान के बाद हुए माओवादी हमले के बाद कांग्रेस ने जोरदार हमला करते हुए मोदी को ‘झूठा’ तक कह डाला. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय झा और मनीष तिवारी ने अलग-अलग ट्विट कर कहा कि  मिस्टर मोदी आप कुछ दिन पहले ही कह रहे थे कि अब कोई धमाका नहीं होता. आप झूठ बोल रहे थे. हमारे पुलिस बल के 16 जवानों को धमाका करके मार डाला गया. आप एक्सपोज्ड हो गये हैं.

इसी तरह मनीष तिवारी ने ट्विट कर कहा कि मिस्टर मोदी कहते हैं कि 2014 के बाद से धमाके बंद हो गये. वह बहरे हो गये थे क्योंकि उन्होंने पुलवामा हमले के धमाके की आवाज नहीं सुनी और अब गोडचिरोली में हमारे 16 जवानों को धमाके में माओवादियों ने मार डाला.

आत्मविश्वास के साथ बोलते हैं झूठ

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐसी बातें पहली बार नहीं कहीं. वह अकसर अपने भाषणों में झूठ और मुगालते से काम लेते हैं. वह अपने झूठे भाषणों को पूरे आत्मविश्वास के साथ कहते हैं. उधर बिहार की एक रैली में मोदी ने हाल ही में कहा कि बिहार में कानून व्यवस्था की हालत को नीतीश-सुशील मोदी ने ठीक कर दिया.  उन्होंने बड़े अपराधियों को जेल में डालने की बात भी कही. उनके इस बयान पर राबड़ी देवी ने उनकी भाषा को गली के गुंडों की भाषा बता कर विरोध जताया.

 

यह भी पढ़ें- पुलवामाम में जवान शहीद हो रहे थे, मोदी सूटिंग में व्यस्त थे

 

मिस्टर मोदी का बढ़बोलापन  हर बार बेनकाब हुआ है और इस बार भी हो गया. लेकिन नरेंद्र  मोदी को अपने पद की गरिमा का शायद ही कभी ख्याल आया और वह हर बार अपनी रौ में जो जी में आया कहते रहे हैं.

लेकिन आज गोडचिरोली में जैसा निर्मम धमाका माओवादियों ने किया है उससे यह साफ हो गया है कि माओवादियों ने धमाके में 15 पुलिसकर्मियों को उड़ा कर मोदी के चौलेंज को मिट्टी में मिला दिया है.

आज हुए बम धमाके के बाद भी नरेंद्र मोदी संय्यम से काम लेंगे, ऐसी उम्मीद कम ही है.

पर यहां सबसे महत्पूर्ण सवाल यह है कि मोदी के बढ़बोलेपन की खिल्ली उड़ गयी है.

नक्‍सलियों ने पाइपलाइन योजना के बेस कैंप पर किया हमला, वाहन फूंके

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*