पूर्वी चम्पारण बना अपराध की राजधानी, DM व SP लाचार

पूर्वी चम्पारण बना अपराध की राजधानी, DM व SP लाचार

लगातार बढ़ती हिंसा, हत्या और डकैती की घटनाओं से ऐसा लगने लगा है कि पूर्वी चम्पारण अपराध की राजधानी बन गया है जबकि DM और SP लाचार हैं.

पिछले दिनों मोतिहारी डीएम शीर्षत कपिल अशोक पर भी हुआ था हमला

इर्शादुल हक, एडिटर नौकरशाही डॉट कॉम

हद तो यह है कि इस हिंसा के शिकार पिछले दिनों खुद जिले के डीएम शीर्षत कपिल अशोक व एसपी भी हो चुके हैं.

बीते दिनों तो पूर्वी चम्पारण में अपराधियों के हौसले इतने बुलंद दिखे कि कोटवा में एटीएम को गैस कटर से आराम से काटा गया और उसे वाहन पर लाद कर ले जाया गया. घंटों तक इस वारदात को अंजाम दिया गया लेकिन पुलिस कान में तेल डाल कर बैठी रही. कैश बॉक्स में करीब 37 लाख रुपये थे. इसी तरह की एक अन्य वारदात तुरकौलिया में मोतिहारी- अरेराज मुख्य मार्ग पर हुई. यहां गैस कटर से एटीएम को काटने के बाद चोर इसे ले कर फरार हो गये.

ये भी पढ़ें- उपमुख्यमंत्री के गार्ड ने किया यौन उत्पीड़न, वीडियो वायरल

उधर मोतिहारी की एक अन्य घटना दिल दहला देने वाली है. यहां मदरसा चौक के निकट अपराधियों ने सीपी ट्रेडिंग छड़ व्यवसायी की कनपट्टी में पिस्टल तान कर अपराधियों ने दो लाख रुपये लूट लिये.

आपको याद होगा कि विगत 15 नवम्बर को पंचायत चुनाव के दौरान बुथों का जायजा लेने पहुंचे डीएम शीर्षत कपिल अशोक के साथ एक एसडीओ व अन्य पदाधिकारियों पर हमला किया गया. ये तमाम वारादात पिछले एक पखवारे से भी कम समय में अंजाम दिये गये हैं. उधर लूट व हिंसा की लगातार होती घटनाओं के बाद इन मामलों पर प्रशासन की कोशिशें काफी निराशजनक रही हैं. जिले में बेखौफ अपराधियों के कृत्य से आम लोग परेशान हैं लेकिन जिला व पुलिस प्रशासन की लेटलतीफी अपनी जगह कायम है.

भले ही जिला प्रशासन जमीन पर सक्रिय दिखे या न दिखे लेकिन वह सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय दिखता है. जिला प्रशासन की तरफ से डीएम शिर्षत कपिल अशोक की एक एक गतिविधि की खबरें फेसबुक पर नियमित रूप से अपडेट की जाती हैं. लेकिन कानून व्यवस्था की स्थिति जिस तरह जिले में नाजुक हो चुकी है उससे आम जनमानस में दहशत व असुरक्षा की भावना बढ़ती जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*