एमपी मतलब मुखियापति आप जानते हैं, पर एमबी का मतलब?

एमपी मतलब मुखियापति आप जानते हैं, पर एमबी का मतलब?

बिहार ने हिंदी को कई नए शब्द देकर समृद्ध किया है। मुखियापति, सरपंचपति शब्दों से आप परिचित हैं। इनका शॉर्ट वर्शन भी आ चुका है। एमपी-एसपी। जानिए एमबी का मतलब।

कुमार अनिल

बिहार में पंचायत चुनाव के बाद कई नए शब्दों का इजाद हुआ। इनमें मुखियापति सबसे चर्चित और सबसे ज्यादा उपयोग में आनेवाला शब्द है। अब एक बार फिर बिहार ने एक नए शब्द का इजाद किया है, जिसका शॉर्ट वर्शन है एमबी। और इसका फुल फॉर्म है मंत्रीभाई।

मुखियापति को बिहार के हिंदी समाज ने स्वीकार कर लिया है। उम्मीद कर सकते हैं कि मंत्रीभाई को भी बिहारी समाज स्वीकार कर लेगा। शायद इसी उम्मीद से राज्य के मंत्री मुकेश सहनी की जगह उनके भाई एक सरकारी कार्यक्रम में उपस्थित हुए।

मोदी टैक्स के कारण महंगाई, हवाई चप्पल भी महंगी : कांग्रेस

अब इस मुद्दे को नाहक ही राजद मुद्दा बना रहा है। राजद ने ट्विट किया-नीतीश जी के सरकार में भाड़े पर मंत्री भी मिलते हैं। गजब का सुशासन है बिहार में। इस ट्विट के साथ राजद ने एएनआई का एक वीडियो भी साझा किया है।

वीडियो के साथ मुकेश सिंह ने लिखा है-मंत्री मुकेश सहनी की जगह उनके भाई ने सरकारी कार्यक्रम में शिरकत की, योजना का वितरण किया। मंत्री जी का जो स्वागत होना चाहिए था, उससे ज्यादा स्वागत मंत्री के भाई का हुआ। अधिकारी जी हजूर कहते नजर आए।

अमेरिकी संस्था बोली, निरंकुश हो रहा भारत, राजद की गंभीर टिप्पणी

राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने कहा-गंभीर से गंभीर आरोप पर लीपा-पोती करना नीतीश सरकार का इतिहास रहा है। संविधान की शपथ लेनेवाले शपथ का उल्लंघन करते हैं, तो यह राजद्रोह का मामला बनता है। इसलिए मंत्री अविलंब इस्तीफा दें।

रितू जायसवाल ने लिखा एमएनपी यानी मंत्री एंड नेता पोर्टेबिलिटी अब बिहार सरकार में भी उपलब्ध। इसके साथ ही उन्होंने अखबार की खबर भी साझा की है।

चितरंजन गगन और रितु जायसवाल के सवाल बहुत हल्के हैं। अरे जब जाड़े के कारण रसोई गैस महंगी हो सकती है और लोग पूरे मन से स्वीकर कर सकते हैं, तो मंत्री की जगह उनके भाई को स्वीकार करने में आपलोगों को क्या परेशानी है?

ये अखबारवाले भी बात को बतंगड़ बना देते हैं। डिजिटल मीडिया में यह खबर छा गई है। वे समझते ही नहीं कि स्वअनुशासन क्या होता है। जब आपने एमपी को स्वीकार कर लिया, तो एमबी में क्या कमी है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*