मुख्यमंत्री ने गंगा घाटों का निरीक्षण किया

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोक आस्था के महापर्व छठ के मद्देनजर छठ घाटों का आज दूसरी बार निरीक्षण किया। उन्होंने स्टीमर से दानापुर के नासरीगंज से पटना सिटी के कंगन घाट तक गंगा घाटों का निरीक्षण किया और घाटों की सफाई, सुरक्षा एवं स्वच्छता के संबंध में पदाधिकारियों को आवष्यक दिशा-निर्देश दिये। 

मुख्यमंत्री ने लगभग ढ़ाई घंटे तक नासरीगंज से कंगन घाट के बीच अवस्थित सभी छठ घाटों का मुख्यमंत्री ने सूक्ष्म रूप से अवलोकन किया और अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिया। उन्होंने छठव्रतियों के लिये आने-जाने का सुगम रास्ते का प्रबंध करने के साथ-साथ पार्किंग की व्यवस्था एवं घाटों का ठीक ढंग से बैरिकेटिंग करने को कहा।

गायघाट में पत्रकारों से बात करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि एक सप्ताह पहले छठ घाटों का निरीक्षण करने हम आये थे। गायघाट से पश्चिम की तरफ का काम लगभग पूर्ण हो गया है, थोड़ा काम बचा हुआ है, जिसे पूर्ण कर लिया जायेगा। गायघाट के पूरब में भी घाटों को ठीक करने के लिये काम किया गया है। अधिकारी लोग आज गायघाट से लेकर दीदारगंज तक जाकर एक-एक चीज का निरीक्षण करेंगे ताकि छठव्रतियों को किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं हो। किसी चीज की कमी नहीं रह जाये, इसके लिये हमलोगों ने कोशिश की है। उन्होंने कहा कि पिछली बार के कुछ घाटों का इस बार छठ व्रत के लिये तैयार नहीं किया गया है।

प्रशासन द्वारा ऐसे खतरनाक घाटों के बारे में जानकारी दी गयी है। मुख्यमंत्री के निरीक्षण के क्रम में उप मुख्यमंत्री सुषील कुमार मोदी, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोरर यादव, लोक स्वास्थ्य अभियंण मंत्री बिनोद नारायण झा, जल संसाधन मंत्री संजय झा, मेयर पटना नगर निगम सीता साहू, मुख्य सचिव दीपक कुमार, पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्‍वर पाण्डेय, अपर मुख्य सचिव गृह आमिर सुबहानी, प्रधान सचिव पथ निर्माण अमृत लाल मीणा, प्रधान सचिव ऊर्जा प्रत्यय अमृत, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव नगर विकास एवं आवास विभाग आनंद किशोर, मुख्यमंत्री के सचिव मनीष कुमार वर्मा, मुख्यमंत्री के सचिव अनुपम कुमार, पटना के प्रमण्डलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल, जिलाधिकारी कुमार रवि, वरीय पुलिस अधीक्षक गरिमा मलिक, अपर सचिव मुख्यमंत्री सचिवालय चन्द्रशेखर सिंह, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह सहित पटना नगर निगम, बुडको एवं बिहार राज्य जल पर्षद के वरीय पदाधिकारी समेत अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*