मुस्लिम के नाम पर राममंदिर उड़ाने की दी धमकी, खुल गया पोल

मुस्लिम के नाम पर राममंदिर उड़ाने की दी धमकी, खुल गया पोल

मुस्लिम के नाम पर राममंदिर उड़ाने की दी धमकी, खुल गया पोल। जुबैर खान तथा शारिक खान के फर्जी नाम पर राममंदिर उड़ाने की धमकी देने वाले भाजपाई निकले।

अयोध्या में बन रहे राम मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी देने वाले ओम प्रकाश मिश्रा तथा ताहर सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है। इन दोनों ने जुबैर खान तथा शारिक खान के नाम पर फर्जी ईमेल आईडी बना कर राममंदिर, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी को बम से उड़ाने की धमकी दी थी। ओम प्रकाश मिश्रा तथा ताहर सिंह के इस कार्य के पीछे मास्टरमाइंड देवेंद्र तिवारी है। वह गौरक्षा परिषद का अध्यक्ष है। उसकी एक तस्वीर मुख्यमंत्री योगी के साथ वायरल है। स्पष्ट है धमकी देनेवाले भाजपा समर्थक ही हैं।

देवेंद्र तिवारी फरार हो गया है। गोदी मीडिया यह तो बता रहा है कि राम मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी देने वाले दो लोग गिरफ्तार हो गए हैं, लेकिन उनका मुख्यमंत्री और भाजपा से संबंध है, इस बात को छिपा लिया है। गोदी मीडिया यह भी नहीं बता रहा कि इन दोनों ने मुस्लिम के नाम पर फर्जी ईमेल आईडी क्यों बनाया, इनका मकसद क्या था। किसी भी क्राइम में मकसद जानना जरूरी होता है। लेकिन मामले को हल्का करने के लिए गोदी मीडिया कह रहा है कि देवेंद्र तिवारी अपने लिए सुरक्षा चाहता था या चर्चा में आने के लिए ऐसा किया। अगर उसे सुरक्षा चाहिए थी, तो वह सीधे मुख्यमंत्री से बात कर सकता था, क्यों कि वह पहले भी मुख्यमंत्री से मिला है। चुनाव में भाजपा के लिए काम कर चुका है।

स्पष्ट है मुस्लिम के नाम पर फर्जी ईमेल बना कर धमकी देने के पीछे समाज में हिंदू-मुस्लिम के नाम पर नफरत फैलाना, शांति भंग करना मकसद था, जिससे चुनाव में भाजपा को फायदा होता। राम मंदिर को उड़ाने की धमकी देने वाले दोनों हिंदू निकले तथा भाजपा के करीबी निकले।

इस पर कांग्रेस तथा समाजवादी पार्टी के नेताओं ने भाजपा को निशाने पर लिया है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने देवेंद्र तिवारी की मुख्यमंत्री के साथ तस्वीर के साथ लिखा कि हर आरोपी की मुख्यमंत्री के साथ तस्वीर होना अनिवार्य ! राम मंदिर और मुख्यमंत्री को बम से उड़ाने की धमकी देने का षड्यंत्र रचने वाले आरोपी भी भाजपा से जुड़े हैं। सत्ता के इशारे पर ये लोग समाज में धार्मिक नफरत घोलने का कर रहे प्रयास। आरोपी और उनके आकाओं पर हो कार्रवाई।

PM के सेल्फी बूथ की कीमत बतानेवाले अधिकारी पर गिरी गाज