मुस्लिम लक्ष्मी नहीं पूजते, तो क्या वे करोड़पति नहीं होते : BJP MLA

मुस्लिम लक्ष्मी नहीं पूजते, तो क्या वे करोड़पति नहीं होते : BJP MLA

बिहार भाजपा के एक विधायक ने कहा कि मुस्लिम लक्ष्मी की पूजा नहीं करते, तो क्या वे करोड़पति नहीं होते। उन्होंने श्राद्ध कर्म को भी ढकोसला बताया।

बिहार के पीरपैंती से भाजपा विधायक ललन पासवान से भाजपा समर्थक खासे नाराज हो गए हैं। विधायक ने कहा कि देवी लक्ष्मी को धन की देवी मान कर पूजा जाता है। मुसलमान तो लक्ष्मी की पूजा नहीं करते, तो क्या उनमें करोड़पति नहीं होते। उन्होंने कहा कि बजरंग बली को शक्ति का देवता मान कर पूजते हैं। अमेरिका में तो बजरंग बली की पूजा नहीं होती, तो क्या अमेरिका ताकतवर नहीं है। विधायक ने श्राद्ध कर्म को भी ढकोसला कहा। उनके बयान के बाद हंगामा हो गया। भाजपा समर्थक नाराज बताए जाते हैं। भाजपा विधायक के इस बयान को कोट करते हुए बिहार में सत्ताधारी दल राजद ने लोगों से पूछा कि सहमत या असहमत।

हालांकि भाजपा विधायक ने यह नहीं कहा कि वे आंबेडकर की 22 प्रतिज्ञाओं से प्रभावित हो कर ऐसा कह रहे हैं. आंबेडकर ने जब हिंदू धर्म छोड़ कर बौद्ध धर्म अपनाया था, तब भी इसी तरह की 22 शपथ ली थी। भाजपा विधायक के बयान के बाद कुछ लोगों ने उनका पुतला भी जलाया। मीडिया में खबर आने के बाद ललन पासवान ने सफाई दी कि उनका कहना है कि मानो तो पत्थर नहीं, तो देवता। उन्होंने कहा कि वे भगवान की पूजा में विश्वास में करते हैं।

BJP MLA ने लक्ष्मी और बजरंग बली के अलावा सरस्वती पर भी कहा था कि सरस्वती को शिक्षा की देवी कहा जाता है, तो क्या जो लोग सरस्वती की पूजा नहीं करते, वे विद्वान नहीं होते हैं। इससे पहले उत्तराखंड के पूर्व मंत्री और भाजपा नेता ने कहा था कि शिक्षा चाहिए तो सरस्वती को पटाओ, धन चाहिए, तो लक्ष्मी को पटाओ। उनके बयान के बाद भी सोशल मीडिया में खूब चर्चा हुई थी।

कैसे बचेगी बेटी? सिसोदिया नहीं बोल पाए रेपिस्टों को छोड़ना गलत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*