नंदीग्राम में टिकैत ने गमछा लहराया, कहा, देश बिक रहा है, बचाओ

नंदीग्राम में टिकैत ने गमछा लहराया, कहा, देश बिक रहा है, बचाओ

नंदीग्राम में टिकैत ने सिर के ऊपर गमछा लहराया, तो भीड़ भी लहराने लगी। वैसे ही जैसे कभी गांगुली ने स्टोडियम में टीशर्ट लहराया था। एक पार्टी द्वारा एक मुट्ठी चावल मांगने पर क्या बोले?

कुमार अनिल

आज नंदीग्राम में किसान नेता राकेश टिकैत भाजपा पर जमकर बरसे। कहा कि एक पार्टी बंगाल में एक मुट्ठी चावल मांग रही है। क्या वह पार्टी चावल लेकर सिखों की तरह लंगर चलाएगी या उसे पैसों की कमी है? टिकैत बोले, वह पार्टी गरीबों के लिए लंगर नहीं चलाएगी, बल्कि आपका वोट पाने के लिए चावल मांग रही है। उन्होंने कहा कि जब वे लोग एक मुट्ठी चावल मांगने आएं, तो उनसे एक सवाल जरूर पूछना। पूछना कि धान-चावल का एमएसपी कब दोगे।

राकेश टिकैत ने कहा कि देश में किसी पार्टी की सरकार नहीं चल रही है। पार्टी की सरकार रहती, तो किसानों से बात करती। पहले की सरकार बात करती थी। ये तो व्यापारियों की सरकार है, कंपनी की सरकार है, इसलिए किसानों से बात नहीं कर रही। देश को कंपनी राज होने से बचाना है।

यशवंत सिन्हा ने ममता के बारे में दी सनसनीखेज जानकारी

टिकैत बोले कि जनवरी के बाद से दिल्ली में सरकार नहीं है। मालूम हुआ, पूरी सरकार बंगाल आ गई है। तो हम भी सरकार को खोजते हुए यहां आ गए। अब तक 300 किसान शहीद हो गए, लेकिन ये ऐसी सरकार है, जिसने दो मिनट की श्रद्धांजलि भी नहीं दी।

टिकैत ने पूछा कि ट्रेनें क्यों नहीं चल रहीं? लोग समझते हैं कि कोरोना के कारण रेल नहीं चल रही। बल्कि वास्तविकता यह है कि सरकार रेल बेच रही है, पूरा बेच लेगी, तब रेल चलेगी। ये सरकार सबकुछ बेच रही है। खेत भी कंपनी के हाथ बेचना चाहती है।

तेजस्वी ने पहली बार नीतीश के कोर वैल्यू पर किया बड़ा हमला

उन्होंने कहा कि हमारी लड़ाई बड़ी सरकार से है। आप किसी को वोट दे देना, पर भाजपा को मत देना। ये रोटी को तिजोरी की वस्तु बनाना चाहते हैं। हम ऐसा नहीं होने देंगे।

टिकैत बोले, चूंकि सरकार बंगाल में है, तो हमारे नेता भी बंगाल में घूम-घूम कर सभा करेंगे।

उधर, कोलकाता में योगेंद्र यादव ने कहा कि ये सरकार कानून की बात नहीं मानती। यह सिर्फ वोट की बात समझती है। इसीलिए इसे वोट की चोट दीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*