नया भारत खुश हुआ : अब रेलवे में बुजुर्गों को टिकट पर छूट नहीं

नया भारत खुश हुआ : अब रेलवे में बुजुर्गों को टिकट पर छूट नहीं

महंगाई का समर्थक नया भारत खुश है। अब रेलवे में बुजुर्गों को टिकट पर छूट नहीं मिलेगी। भक्त कह रहे कि अच्छे बुजुर्ग घर में रहें। आराम करें। संस्कार बांटें।

अब केंद्र की मोदी सरकार का नया फैसला है कि ट्रेन में बुजुर्गों को टिकट पर दी जाने वाली छूट नहीं मिलेगी। इससे महंगाई समर्थक न्यू इंडिया खुश है। वे कह रहे हैं कि जब पूरा देश बिना किसी विरोध के महंगे पेट्रोल खरीद सकता है, देश के विकास में अपना योगदान दे सकता है, तो बुजुर्गों को भी विकास में अपना योगदान देना चाहिए। न्यू इंडिया के समर्थक यह भी कह रहे हैं कि जैसे अच्छे किसान दिल्ली की सड़कों पर आंदोलन नहीं करते, खेत में काम करते हैं, उसी तरह अच्छे बुजुर्गों को भी घर में रहकर नाती-पोतों को खेलाना चाहिए। बुजुर्गों का काम बच्चों में संस्कार देना है, उन्हें ट्रेन में यात्रा करने की क्या जरूरत है। गनीमत है कि यूक्रेन में फंसे मेडिकल छात्रों को जिस तरह के ताने मारे गए, वैसा ताना किसी ने बुजुर्गों पर नहीं मारा है। देश में कई ओल्ड एज ऑर्गनाइजेशन हैं, पर किसी ने मोदी सरकार के इस फैसले का विरोध नहीं किया है।

नए फैसले के अनुसार रेलवे में दिव्यागों, गंभीर रोगों से पीड़ित लोगों के लिए छूट जारी रखी है, लेकिन 60 साल से ऊपर के महिला-पुरुष को दी जाने वाली छूट समाप्त कर दी है।

सोशल मीडिया में यह खबर खूब चल रही है, लेकिन बिना किसी चिंता के। जितने लोग इस खबर को शेयर कर रहे हैं, वे सिर्फ सूचना को प्रसारित कर रहे हैं। किसी ने बुजुर्गों को होनेवाली परेशानी का जिक्र नहीं किया है। इससे पहले पीएफ में ब्याज दर मोदी सरकार घटा चुकी है। मालूम हो कि कोरोना आने पर वर्ष 2020 से यह रियायत तात्कालिक तौर पर बंद कर दी गई थी, जिसे अब स्थायी तौर पर बंद कर दिया गया है।

इश्तियाक ने चंपारण में मंदिर के लिए दान में दी 2.5 करोड़ की जमीन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*