NDA में सीट शेयरिंग पर बगावत, RLSP ने भाजपा को धमकाया सम्मान नहीं मिला तो छोड़ देंगे गठबंधन

NDA में सीट शेयरिंग पर बगावत, RLSP ने भाजपा को धमकाया सम्मान नहीं मिला तो छोड़ देंगे गठबंधन.
एक तरफ भाजपा और जदयू के बीच 2019 लोकसभा चुनाव के लिए सीट शेयरिंग का मामला सुलझ नहीं पा रहा है वही NDA की अन्य सहयोगी RLSP ने साफ शब्दों में धमकी दे डाली है कि अगर उसे सम्माजनक सीटें नहीं मिलीं तो उसके लिए  और भी दरवाजा खुला है.
रालोसपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष नागमणि ने कहा कि अगर भाजपा सम्मान नहीं देगी तो उनकी पार्टी के लिए और भी दरवाजे खुले हैं. नगमणी ने यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि भाजपा को भूलना नहीं चाहिए कि हम एनडीए के पार्टनर हैं, गुलाम नहीं. किसी भी गठबंधन में सहयोगी को सम्मान नहीं मिलेगा तो उसके साथ टिकना कठिन होगा.
 
शनिवार को  पत्रकारों से बातचीत में नागमणि ने कहा कि उनकी पार्टी अगर NDA  में रही तो उसकी सरकार बनेगी अन्यथा यूपीए में गई तो उसको केंद्र में आने से कोई नहीं रोक सकता है.
नागमणी ने कुशवाहा वोटों के प्रतिशत की तरफ इशारा करते हुए कहा कि दस प्रतिशत वोट आधार वाली पार्टी को 3 सीट देने की बात करना जबकि कम वोट( नीतीश की जाति का दो प्रतिशत) वाले को जरूरत से ज्यादा सीट देने पर विचार करना किसी भी हाल में बदाश्त नहीं किया जा सकता.
उन्होंने कहा कि उपेन्द्र कुशवाहा को कमजोर आंकने की भूल होगी तो इसका खामयाजा भी भुगतने के लिए तैयार रहना होगा. नागमणि ने  आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एनडीए की नैया डुबो देंगे. उन्होंने चेताया कि उनकी पार्टी को कमजोर समझने की भूल भाजपा और जदयू को नहीं करना चाहिए.
गौरतलब है कि RLSP के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा पिछले डेढ साल से अपनी अलग लाइन पर खड़े हैं. पिछले दिनों उन्होंने इशाराों में कहा था कि यदुवंशियों का दूध और कुशवंशियों का चावल मिल जाये तो टेस्टी खी बन सकती है. उनका यह बयान काफी चर्चित हुआ था. कुछ लोगों का आंकलन था कि उन्होंने यह बयान राजद से अपनी नजदीकी ब़ाने के लिए दिया है. उनके इस बयान का राजद के नेता तेजस्वी यादव ने स्वागत किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*