New18 ने अब यूपी में की दंगाई पत्रकारिता, देवबंद में हुआ केस तो मांगी माफी

बिहार में दंगाई पत्रकारिता करके कुख्यात हो चुके News18 ने यूपी में भी जहरीली रिपोर्टिंग की है. इके खिलाफ दारुल उलूम देवबंद ने पुलिस में रिपोर्ट लिखाई तो फौरन इसने भूल सुधार कर लिया.

News18 के खिलाफ लोगों ने ट्विटर पर अभियान भी चलाना शुरू कर दिया है. इस बीच चारों तरफ से दबाव में आने के बाद चैनल ने अपने ट्विट हैंडल @News18Uttarprades से किये ट्विट में भूल सुधार की घोषणा की है.

क्या था मामला

दर असल News18 Uttarpradesh ने ट्विट किया था कि ” दारुल उलूम देवबंद बना कोरोना का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट, अब तक 47 में हुई संक्रमण की पुष्टि”

इस झूठी खबर के बाद दारुल उलूम देवबंद के वाइस चांसलर मौलाना अबुल कासमी नुमानी ने देवबंद के कोतवाली थाने में शिकायत दर्ज कराई. कासमी ने अपनी शिकायत में लिखा कि यह खबर सरासर गलत है. ऐसा प्रतीत होता है कि चैनल ने यह खबर एक समुदाय के खिलाफ नफरत फैलाने और समाज को तोड़डने के लिए किया है.इससे संस्थान और संस्थान के परिवार को आघात पहुंचा है इलिए इस चैनल के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाये.

इस शिकायत के बाद न्यूज 18 यूपी ने फौरन ही अपने ट्विट को सुधारा. उसने लिखा कि ” दारुल उलूम देवबंद बना कोरोना का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट, अब तक 47 में हुई संक्रमण की पुष्टि” इस शीर्षक में दारुल उलूम का जिक्र गलती से हुआ था. इसे अब सुधार लिया गया है.

News18Bihar की दंगाई पत्रकारिता से फैल सकती है बिहार में हिंसा

गौरतलब है कि इससे पहले न्यूज18 ग्रूप के बिहार चैनल ने एसएसबी के रमगढ़वा कमांडेंट की गोपनी चिट्ठी के आधार पर खबर दी थी कि नेपाल से चालीस पचास मुस्लिम कोरोना संदिग्धों को बिहार में भेजने की साजिश की जा रही है. और ये लोग नेपाल के खैरवा व चंदनबारा मदरसों में छिपे हैं. जबकि ये दोनों मदरसे नेपाल में कही हैं ही नहीं.

इस झूठी खबर के बाद एसएसबी के कमांडेंट के खिलाफ लीगल नोटिस भेजा गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*