नीतीश धुआंधार मिल रहे, उलझन में भाजपा, नहीं खोज पा रही काट

नीतीश की धुआंधार मुलाकातों से विपक्ष में जोश, भाजपा चिंतन में

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कल शाम राहुल गांधी से मिले और आज लेफ्ट के नेताओं और केजरीवाल से मिले। विपक्षी खेमे में जोश। भाजपा अभी तक नीतीश की काट खोज रही।

कुमार अनिल

दो दिनों में ही विपक्ष की राजनीति में नया जोश दिख रहा है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दिल्ली में हैं। कल शाम वे कांग्रेस नेता राहुल गांधी से मिले। एक घंटे तक बात हुई। आज नीतीश कुमार एक के बाद एक विपक्षी नेताओं से मिल रहे हैं। सुबह में वे सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी से मिले। फिर सीपीआई नेता डी. राजा से उनकी मुलाकात हुई। और अभी थोड़ी देर पहले वे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिले। नीतीश कुमार की धुआंधार मुलाकातों से विपक्षी खेमे में नया जोश दिखने लगा है।

भाजपा अभी तक चिंतन की मुद्रा में है। नीतीश कुमार की राजनीतिक पहल का किस प्रकार वह विरोध करे, इसे ठीक-ठीक वह सूत्रीकरण नहीं कर पा रही। हर विपक्षी नेता को खारिज करने के लिए भाजपा में पहले से विशेषण तय है। नीतीश कुमार दिल्ली में सारे विपक्षी नेताओं से मिल रहे हैं, लेकिन मीडिया में दिन-रात दिखाए जाने वाले भाजपा नेता अभी तक कुछ तय नहीं कर पा रहे हैं कि नीतीश पर क्या आरोप लगाया जाए। पुराने आरोप तो नहीं चल सकते। नीतीश पर परिवादवाद का आरोप नहीं लग सकता। उन पर भ्रष्टाचार का आरोप भी नहीं हैं। प्रधानमंत्री से ज्यादा पढ़े-लिखे भी हैं। देखना है कि भाजपा नीतीश कुमार के खिलाफ कौन सा तीर निकालती है।

हां, गोदी मीडिया लगातार भाजपा के लिए काम कर रहा है। दिल्ली में जहां भी नीतीश कुमार जा रहे हैं, उनसे एक ही सवाल किया जा रहा है कि आप प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार होंगे? मीडिया चाहकर भी नीतीश से ऐसा कुछ नहीं कहवा पा रहा है, जिसे लेकर मीडिया कूद पड़े। नीतीश कुमार से बार-बार एक ही सवाल पूछा जा रहा है और वे बार-बार एक ही उत्तर दे रहे हैं कि उन्हें प्रधानमंत्री बनने की कोई इच्छा नहीं है और न ही वे उम्मीदवार हैं।

महिला ग्रुप में अश्लील तस्वीर डालने वाले पुलिसकर्मी पर FIR

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*