नीतीश जी! रघुवंश बाबू के नाम पर वोट मांगा, मांग पूरी करें : राजद

नीतीश जी! रघुवंश बाबू के नाम पर वोट मांगा, मांग पूरी करें : राजद

राजद ने मुख्यमंत्री से कहा, आप चुनाव में रघुवंश बाबू पर खूब बोले, वोट भी मांगा। कोविड में किसान- मजदूर परेशान हैं। रघुवंश बाबू की इच्छा पूरी करें।

राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने मुख्यमंत्री को याद दिलाया कि पिछले विधानसभा चुनाव में आपने रघुवंश बाबू की चर्चा खूब की। उनके नाम पर वोट भी मांगा। दो दिन बाद उनकी जयंती है। क्या उन्हें याद करेंगे? गगन ने यह भी कहा कि रघुवंश बाबू ने मृत्यु से पहले आपको पत्र लिखा था। उनकी एक इच्छा आज कोविड काल में परेशान किसान-मजदूरों के लिए बहुत प्रासंगिक है। वे चाहते थे कि मनरेगा से किसानों को जोड़ा जाए। इससे किसान-मजदूर दोनों को राहत मिलेगी।

चितरंजन गगन ने भारत सरकार के पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ समाजवादी नेता डॉ रघुवंश प्रसाद सिंह के जन्मदिन (छह जून) के अवसर पर उन मांगों को पूरा करने की मांग की है जिसे उन्होंने अपने स्वर्गवासी होने के पूर्व मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में किया था।

राजद प्रवक्ता ने बताया कि छह जून को रघुवंश बाबू की 75 वीं जयंती है। गत 13 सितम्बर को उनका निधन हो गया था। जब रघुवंश बाबू को यह महसूस हो गया कि वे अब कुछ ही दिनों बचेंगे तो मरणासन्न स्थिति में ही 10 सितम्बर, 2020 को मुख्यमंत्री को सम्बोधित करते हुए तीन पत्र और एक पत्र सिंचाई मंत्री को सम्बोधित करते हुए लिखा था। उन्होंने अपने जीवनकाल में काफी प्रयास किया, पर इन्हें वे पूरा नहीं कर पाए थे।

टुना पांडे का विद्रोह सवर्णों पर मोदी मैजिक फीका होने का नतीजा

राजद प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री को लिखे पहले पत्र में उन्होंने मांग की थी कि स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के अवसर पर प्रतिवर्ष वैशाली गढ़ पर सरकारी आयोजन किया जाये और महामहिम राज्यपाल महोदय अथवा मुख्यमंत्री झंडोत्तोलन करें। पहले एकीकृत बिहार में पटना और रांची में झंडोत्तोलन की परम्परा थी। दूसरे पत्र में उन्होंने भगवान बुद्ध का भिक्षा-पात्र अफगानिस्तान से वैशाली मंगवाने की मांग की थी। मुख्यमंत्री को लिखे तीसरे पत्र में रघुवंश बाबू ने मनरेगा से आम किसानों को जोड़ने की मांग की थी, जिससे मजदूरों को काम भी मिलेगा और किसानों को मजदूर की उपलब्धता के साथ ही आर्थिक बोझ भी हल्का होगा। 

राजद ने पूछा, क्या नीतीश 1.5 करोड़ बिहारियों की उंगली काटेंगे?

सिंचाई मंत्री को सम्बोधित पत्र में रघुवंश बाबू ने समाजवादी विचारक और साहित्यकार रामवृक्ष बेनीपुरी जी के घर की सुरक्षा के लिए मुजफ्फरपुर के कटौंझा धार को दोनों तटबंधों के बीच लाने, मुजफ्फरपुर जिला के साहेबगंज, मोतीपुर और वैशाली में गंडक नहर पर छोटा पुल बनाने,  वैशाली जिला के महनार प्रखंड में मलमला नहर के दाहिने बाँध का चौड़ीकरण कर सड़क बनाने और शाहपुर मे नहर में स्लूइस गेट लगवाने का आग्रह किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*