नीतीश के उलट जायसवाल : 2 बच्चों से ज्यादावाले को न मिले सुविधा

नीतीश के उलट जायसवाल : 2 बच्चों से ज्यादावाले को न मिले सुविधा

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में जनसंख्या नियंत्रण कानून की जरूरत नहीं। जवाब में भाजपा अध्यक्ष जायसवाल ने छेड़ा अलग राग।

जातीय जनगणना पर सहमति देने के दूसरे दिन विदेशी घुसपैठ खासकर बांग्लादेशी घुसपैठ का मुद्दा उठानेवाली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने आज एक राष्ट्रीय दैनिक से बात करते हुए कहा कि राज्य में दो बच्चों से ज्यादा वाले अभिभावक को सरकारी सुविधा से वंचित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकारी सुविधा सिर्फ उसे ही मिले, जिसके दो से उससे कम बच्चे हों।

मालूम हो कि एक दिन पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार द्वारा जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की चर्चा पर कहा था कि ऐसे किसी कानून की कोई जरूरत नहीं है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विरोध के दूसरे दिन ही आज भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने कहा कि जिसे दो बच्चे से ज्यादा संतान है, उसे सभी सरकारी सुविधा से वंचित किया जाए।

इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने फिर से पार्टी का पुराना राग छेड़ दिया है। जनसंख्या नियंत्रण कानून पर रह-रह कर भाजपा बयान देती रहती है। इससे पहले जातीय जनगणना पर भी भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व असहमति जता चुका था। फिर नीतीश कुमार के दबाव में भाजपा तैयार हुई, लेकिन विदेशी घुसपैठ का सवाल उठा दिया। अब लगता है भाजपा और जदयू में तनातनी का एक नया मोर्चा खुलनेवाला है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि जिस दंपती को दो या उससे कम बच्चे हों, उसे ही महीने में 25 किलो ग्राम अनाज तथा आयुष्मान भारत का लाभ मिलना चाहिए। सवाल है कि क्या राशन के अलावा भी सरकारी सुविधाओं से उन्हें वंचित किया जाएगा, जिनके दो से ज्यादा बच्चे हैं?

भाजपा की यह मांग किस राजनीतिक उद्देश्य से की गई है, इसे लोग समझ रहे हैं, पर अगर ऐसा हुआ, तो बिहार की हर जाति-हर धर्म के लोगों को इसका नुकसान होगा।

राष्ट्रपति चुनाव 18 जुलाई को, क्या भाजपा को गच्चा देंगे नीतीश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*