नीतीश ने मेरे पिता की राजनीतिक हत्या की कोशिश की : चिराग

नीतीश ने मेरे पिता की राजनीतिक हत्या की कोशिश की : चिराग

चिराग पासवान ने साथियों को भावुक पत्र लिखा है। मुख्यमंत्री नीतीश पर बड़ा आरोप लगया। कहा, उन्होंने मेरे पिता की राजनीतिक हत्या की कोशिश की।

लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने आज अपने साथियों को भावुक होकर पत्र लिखा है। चार पन्ने के पत्र में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर बड़ा आरोप लगाया। कहा, नीतीश कुमार ने रामविलास जी की राजनीतिक हत्या की कोशिश की। उन्होंने विस्तार से लिखा कि किस प्रकार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शुरू से रामविलास पासवान की राजनीतिक हत्या की तिकड़म करते रहे।

चिराग ने लिखा है कि 2005 में फरवरी में विधानसभा चुनाव के बाद नीतीश कुमार ने लोजपा के 29 विधायकों को तोड़ा। हमारे प्रदेश अध्यक्ष को भी तोड़ लिया। 2005, नवंबर के चुनाव में जीते हमारे सभी विधायकों को तोड़ा। 2020 में हमारे एक विधायक जीते, उन्हें भी नीतीश ने तोड़ा। और अब हमारे पांच सांसदों को तोड़ कर बांटो और राज करो की नीति दिखाई।

चिराग ने लिखा कि उनके पिता रामविलास जी ने कभी दलित और महादलित में फर्क नहीं किया। लेकिन मुक्यमंत्री नीतीश कुमार ने रामविलास पासवान को अपमानित किया और राजनीतिक तौर पर समाप्त करने की कोशिश की। चिराग पासवान का इशारा नीतीश कुमार द्वारा दलित को दलित और महादलित में बांटने के निर्णय से है। चिराग ने आगे लिखा है कि इस सबके बावजूद रामविलास जी कभी झुके नहीं।

DC SIMDEGA टेटे के घर पहुंचे, सरकार बनाएगी हॉकी मैदान

चिराग ने अपने पत्र में भाई प्रिंस के प्रति नरमी दिखाई है। लिखा है कि चाचा पारस को बिहार अध्यक्ष पद से हटाने का निर्णय उनका नहीं था। यह निर्णय रामविलास जी का था। रामविलास जी ने कभी मुझमे और प्रिंस में फर्क नहीं किया। अंत में चिराग ने लिखा है कि लड़ाई लंबी है। राजनीतिक और वैचारिक लड़ाई है। यह लड़ाई किसी एक व्यक्ति के हित के लिए नहीं है, बल्कि रामविलास जी की विचारधारा को बचाए रखने और आगे बढ़ाने की है। उन्होंने कहा कि वे कानूनी और राजनीतिक दोनों लड़ाई के लिए तैयार हैं।

कोविड पर राहुल ने जारी किया श्वेतपत्र, भाजपा के दिग्गज चुप क्यों

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*