नीतीश ने पकड़ी भाजपा की कमजोर नस, पीएम को घेरा

नीतीश ने पकड़ी भाजपा की कमजोर नस, पीएम को घेरा

यूपी में भाजपा मुश्किल में है। प्रधानमंत्री को किसानों के सामने झुकना पड़ा। अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जदयू ने भाजपा की कमजोर नस पकड़ी।

कुमार अनिल

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राजनीति के माहिर खिलाड़ी हैं। उन्हें पता है कि कब किसे किस तरह घेरना है और कैसे विरोधी ही नहीं, प्रतिद्वंद्वी पर भी भारी पड़ना है। कल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार की संस्था नीति आयोग की रिपोर्ट को केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ ही मोड़ दिया था और आज जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने आगे बढ़ाते हुए सीधे देश के प्रधान अर्थात प्रधानमंत्री मोदी को घेर दिया।

आज जदयू ने एक पोस्टर जारी किया, जिस पर लिखा है-देश के प्रधान, बिहार पर दें ध्यान। इसके साथ एक हैशटैग भी जारी किया गया है-#देश_के_प्रधान_बिहार_पर_दें_ध्यान। इसी हैशटैग के साथ जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने ट्वीट किया-आदरणीय मुख्यमंत्री श्री @NitishKumar जी हमेशा इस बात को रेखांकित करते हैं कि अगर बिहार को राष्ट्रीय औसत तक पहुंचाना है तो इसे #विशेष_राज्य का दर्जा मिलना ही चाहिए। जब @NITIAayog भी बिहार को पिछड़ा राज्य मानती है तो यह मांग बिल्कुल जायज है।

दो दिन पहले जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पत्रकारों के सवाल के जवाब में कहा था कि बिहार अगर पिछड़ा है, तो केंद्र सरकार बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दे। तब समझा गया था कि मुख्यमंत्री ने चलते-चलते यूं ही कह दिया। लेकिन कहते हैं कि नेता जो भी बोलते हैं, उसके पीछे एक समझ होती है। विचार होता है। आज वह सही साबित हुआ, जब पूरे जदयू परिवार ने प्रधानमंत्री को घेर लिया। जदयू का यह पोस्टर सोशल मीडिया में खूब शेयर किया जा रहा है।

तो क्या अब जदयू-भाजपा के बीच हनीमून पीरियड खत्म हो गया? इतना तो तय है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भाजपा से अलग अपनी स्वतंत्र पहचान बनाए रखना चाहते हैं। जदयू ने जातीय जनगणना पर पहले ही भाजपा की इच्छा के विपरीत आगे बढ़ने का फैसला ले लिया है। देखिए, आगे-आगे होता है क्या!

पटना डीएम नाक पर नहीं, मुंह पर पहनते हैं मास्क

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*