नीतीश ने पिछड़े मुसलमानों को दी सत्ता में भागीदारी, सम्मान

नीतीश ने पिछड़े मुसलमानों को दी सत्ता में भागीदारी, सम्मान

युनाइटेड मुस्लिम मोर्चा ने एक बयान में आरसीपी सिंह को राष्ट्रीय अध्यक्ष और उमेश को कुशवाहा के प्रदेश अध्यक्ष बनाने पर उन्हें मुबारकबाद दी है।

युनाइटेड मुस्लिम मोर्चा ने आरसीपी सिंह को जनता दल यूनाइटेड का राष्ट्रीय अध्यक्ष,  उमेश कुशवाहा को प्रदेश अध्यक्ष और दिलकेश्वर कामत को प्रदेश संसदीय दल का अध्यक्ष बनाए जाने पर इन्हें मुबारकबाद दी है।

मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कमाल अशरफ राईन ने एक प्रेस बयान जारी कर कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सामाजिक न्याय और समाजवादी विचारधारा के एकमात्र चेहरा व नेता हैं, जो सभी के साथ इंसाफ और सबों को साथ जोड़कर चलना जानते हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गुलाम सरवर (राईन),  अब्दुल कयूम अंसारी व अब्दुल हमीद (दर्जी) जो भारत- पाकिस्तान के बीच ज़ंग में देश के लिए शहीद हो गए, इन सभी पिछड़े मुसलमानों को मान-सम्मान एवं सच्ची श्रद्धांजलि अगर किसी ने दी तो वो नीतीश कुमार ही हैं। शहीद अब्दुल हमीद की सरकारी जयंती एवं गुलाम सरवर व कयूम अंसारी की सरकारी जयंती के साथ मेमोरियल हॉल कायम कराकर नीतीश कुमार ने इन्हें अमर कर दिया।

गुलाम सरवर की जयंती पर आत्मचिंतन, उर्दू के लिए संघर्ष का ऐलान

अशरफ ने कहा कि नीतीश कुमार ने पिछड़े व दलित मुसलमानो को ना सिर्फ सत्ता में हिस्सेदारी दी बल्कि तालीमी मरकज, हुनर और औजार योजना से भी इन्हें जोड़ा, इससे साबित होता है कि नीतीश कुमार हाशिए पर खड़े लोगों को ऊपर उठाना और उसे आगे बढ़ाना चाहते हैं। उन्होंने दावा किया कि सारे विरोधी एकजुट होकर भी नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री पद से हटाने में नाकाम हो गये, और जिस तरह से विरोधियों ने बिहार की जनता को दिग्भ्रमित किया, अब उनकी पोल खुल चुकी है। अगर दोबारा चुनाव हो गया तो नीतीश कुमार ही और मजबूती से मुख्यमंत्री बनेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*