नीतीश अब अतीत हैं, भविष्य तो तेजस्वी ही हैं : शिवानंद

नीतीश अब अतीत हैं, भविष्य तो तेजस्वी ही हैं : शिवानंद

नीतीश अब अतीत हैं, भविष्य तो तेजस्वी ही हैं : शिवानंद। नीतीश जो 18 साल में नहीं कर सके, वह चमत्कार तेजस्वी ने 17 महीने में कैसे किया। पढ़िए समाजवादी नेता के विचार-

शिवानंद तिवारी, वरिष्ठ समाजवादी नेता

नीतीश जी अतीत हैं और तेजस्वी भविष्य. औरतें साँझ होने के बाद घर से निकलती नहीं थीं. कब तक इसकी दुहाई दी जाएगी ! नीतीश जी मुख्यमंत्री के रूप में लगभग बीस साल पूरा करने वाले हैं. बीस साल पहले क्या था, यह कहने से अब काम चलने वाला नहीं है. लोग यह जानना चाहते हैं कि बिहार सरकार में जितनी नौकरियाँ पिछले सत्रह महीनों में मिलीं वह पिछले 17-18 वर्ष में क्यों नहीं मिलीं ? पिछले विधानसभा के चुनाव अभियान की शुरुआत करते हुए तेजस्वी यादव ने घोषणा की थी कि हमारी सरकार बनेगी तो हम दस लाख युवाओं को सरकार में नौकरी देंगे. इस पर नीतीश जी की क्या प्रतिक्रिया थी! गोपालगंज की सभा में इस घोषणा पर कितनी भद्दी प्रतिक्रिया उन्होंने व्यक्त की थी.

17 महीना पूर्व जब नीतीश जी पुनः महा गठबंधन में शामिल हुए तो कैसे सबकुछ बदल गया. दस लाख युवाओं को नौकरी देने की तेजस्वी की घोषणा को कैसे आपने अपना लिया. पिछले सत्रह महीने में बिहार सरकार ने जितनी नौकरियाँ दीं उतनी नौकरी तो इसके पहले आपके कार्यकाल में कभी नहीं मिली थी. यह चमत्कार कैसे हो गया ! कम से कम यह चमत्कार आपका तो नहीं था. अगर आपका होता तो पहले प्रकट होता. यह चमत्कार तेजस्वी का है,बिहार की जनता और विशेष रूप से युवा इस बात को अच्छी तरह जानते हैं.

तेजस्वी बच्चा है यह कह कर आप तेजस्वी का क़द छोटा नहीं कर सकते हैं. पूरा देश आपको और तेजस्वी दोनों को देख रहा है. सरकार में और अचानक गठबंधन से आपके बाहर निकल जाने के बाद तेजस्वी ने जिस शालीनता और परिपक्वता का परिचय दिया उससे उनका क़द बहुत ऊँचा हो हुआ है. नीतीश जी चाहे जितनी बेचैनी दिखायें, अब वे अतीत हैं. भविष्य तो तेजस्वी हैं.

लालू भी उतरे हेमंत के पक्ष में, नहीं डरेंगे दलित, पिछड़े, आदिवासी