नीतीश ने चला तुरुप का ऐसा पत्ता, चिराग हुए एनडीए से आउट

नीतीश ने चला तुरुप का ऐसा पत्ता, चिराग हुए एनडीए से आउट

शाहबाज़ की रिपोर्ट।

बड़ी खबर यह है कि लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) अब औपचारिक रूप से एनडीए (National Democratic Alliance) गठबंधन का हिस्सा नहीं है. भाजपा नेताओं ने साफ़ कर दिया कि जो दल नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव लड़ने को राज़ी नहीं है वह एनडीए का हिस्सा नहीं है.

बता दें कि आज एनडीए के दो प्रमुख दलों भारतीय जनता पार्टी (BJP) और जनता दल यूनाइटेड (JDU) में सीट बटवारे का ऐलान हो गया. जदयू को 122 और भाजपा को 121 सीटें मिली है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि जीतन राम मांझी की पार्टी हिंदुस्तान अवाम मोर्चा (HAM) को जदयू की और से 7 सीटें दी गयी है ऐसे में जदयू के पास 115 सीटें बचेंगी. वही भाजपा के खाते में 121 सीटें आयी हैं जिसमे से भाजपा को विकासशील इंसान पार्टी को समायोजित करना है. इस बात की सम्भावना है कि VIP को 9 सीटें मिलेंगी ऐसे में भाजपा के पास 112 सीटें बचेंगी।

भाजपा के बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव (Bhupender Yadav) ने लोजपा का नाम लिए बिना आज साफ़ कह दिया कि जो दल मुख्यमंत्री सह जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव लड़ने को तैयार नहीं है वह एनडीए का हिस्सा नहीं है. भाजपा की तरफ से आये इस बयान से अब औपचारिक रूप से लोजपा एनडीए गठबंधन से बाहर हो गयी है. भूपेंद्र यादव ने ज़ोर देकर कहा कि एनडीए नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव लड़ेगा एवं मुख्यमंत्री भी नीतीश कुमार ही होंगे। उन्होंने यह भी कहा जो दल एनडीए का हिस्सा नहीं है वह भाजपा के सिंबल या प्रधानमंत्री की तस्वीर का इस्तेमाल पोस्टर बैनर पर नहीं करें।

ऐलान!JDU 115, BJP 112 ,HAM 7, VIP को मिली 9 सीटें

चिराग पासवान द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की आलोचना का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि “लोजपा के पास विधान सभा में कितनी सीटें है, दो सीटें है. अगर जदयू नहीं होता तो रामविलास पासवान राज्य सभा कैसे पहुँचते”।

उन्होंने कहा कि सबको मालूम है कि हम लोग अगर 15 साल से काम कर रहे हैं और उसके पहले जिन लोगों को 15 साल काम करने का मौका मिला उसकी तुलना देख सकते हैं। पहले के 15 साल में क्या आर्थिक स्थिति थी, क्या कानून की हालत थी, कितने बड़े पैमाने पर हत्याएं होती थीं, सामूहिक नरसंहार जैसी घटनाएं होती थीं। कितने दंगे होते थे, सारी बातें सबको मालूम है। कहीं कोई सड़क था। कहां स्कूल, कॉलेज चलते थे। यूनिवर्सिटी में शिक्षकों को कब सैलरी मिलती थी। हम लोगों ने किस तरह से काम किया यह सबको पता है।

प्रवासी मज़दूरों पर बोलते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि मैं प्रवासी शब्द का इस्तेमाल नहीं करता । देश के भीतर काम करने वाले सभी भारत के नागरिक है. लोगों के घर लौटने के लिए जो ट्रेन की व्यवस्था की गई। केंद्र ने भी काफी मदद की। लेकिन कुछ बातें यूं ही की जाती हैं। हम लोगों का काम है लोगों की सेवा करना। हमने जो काम किया है उसी के आधार पर सेवा का अवसर प्राप्त करेंगे।

जदयू को दिया वोट तो आपके बच्चे होंगे पलायन को मजबूर : चिराग पासवान

बता दें कि आज भी लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने ट्वीट कर आज फिर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला है. ट्वीट में उन्होंने कहा कि अगली सरकार बनते ही सात निश्चय योजना में हुए भ्रष्टाचार की जाँच कर सभी दोषीयों को जेल भेजा जाएगा व लम्बित राशि का तुरंत भुगतान किया जाएगा ताकि अधूरे पड़े कार्य पुरे हों सके”।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*