NPR की तैयारी फिर शुरू, सूचना के अधिकार से हुआ खुलासा

NPR की तैयारी फिर शुरू, सूचना के अधिकार से हुआ खुलासा

सूचना के अधिकार के तहत मांगी गयी जानकारी में रेजिस्ट्रार जनरल ऑफ इंडिया ने बताया है कि जनसंख्या रजिस्टर या एनपीआर( NPR) के सवालों को अंतिम रूप दिया जा रहा है.

ये जानकारी रजिस्ट्रार जनरल ऑफ़ इंडिया (आरजीआई) ने द हिंदू को सूचना के अधिकार के तहत पूछे गए सवाल के जवाब में दी है.

आरजीआई ने बताया है कि एनपीआर के सवालों और शेड्यूल को अंतिम रूप दिया जा रहा है. Registrar General of India ने यह भी कहा है कि जनगणना 2021 के पहले चरण के बारे में अभी जानकारी उपलब्ध नहीं है.

UNHRC ने CAA के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दायर की हस्तक्षेप याचिका, मची खलबली

गौरतलब है कि एनपीआर ( NPR) पर कार्रवाई 1 अप्रैल 2020 से शुरू होनी थी लेकिन कोरोना महामारी की वजह से इसे 25 मार्च 2020 को टाल दिया गया था.

याद रहे कि सिटिजनशिप एमेंडमेंट एक्ट यानी CAA के संसद में पास हो जाने के बाद देश भर में इसके खिलाफ महीनों तक हजारों स्थानों पर आंदोलन चला था. लेकिन कोरोना संक्रमण के बाद ये आंदोलन स्थगित कर दिये गये थे.

देश के 13 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने एनपीआर को अपडेट किए जाने का विरोध किया है.एनपीआर को राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) को पूरा करने की दिशा में पहला क़दम माना गया है.एनपीआर, हाउस लिस्टिंग और जनगणना 2021 का काम एक अप्रैल से 30 सितंबर के बीच होना था.

दि हिंदु द्वारा 17 नवम्बर को मांगी गयी सूचना में रेजिस्ट्रार जनरल ऑफ इंडिया ने बताया है कि एनपीआर की तारीखों को अंदितम रूप दिया जा रहा है.

नागरिकता कानून के अमुसार एनपीआर ( NPR), दर असल नेशनल रेजिस्टर ऑफ इंडियन सिटिजन्स ( NRIC) का पहला कदम है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*