ओमिक्रोन : दिल्ली-कर्नाटक में क्रिसमस मिलन पर लगी रोक

महिला होमगार्ड का वीडियो वायरल, पक्ष में उतरा सोशल मीडिया

ओमिक्रोन के बावजूद यूपी में लाखों लोगों की रैलियां रोज हो रही हैं। खुद प्रधानमंत्री मोदी भी शामिल हैं, लेकिन क्रिसमस मिलन पर दिल्ली-कर्नाटक में लगी रोक।

आज देश में कोरोना के ओमिक्रोन वेरिएंट के 200 से अधिक मामले हैं। स्वास्थ्य संगठन और विशेषज्ञ कह रहे हैं कि तीसरी लहर आ सकती है। इसके बावजूद यूपी में रोज लाखों लोगों की रैलियां हो रही हैं। इस बीच अरविंद केजरीवाल की दिल्ली सरकार और भाजपा की कर्नाटक सरकार ने क्रिसमस मिलन पर रोक लगा दी है। वैसे खुद अरविंद केजरीवाल पंजाब और गोवा में बड़ी-बड़ी सभा करने में व्यस्त हैं।

थोड़ी देर पहले मिली खबरों के अनुसार दिल्ली सरकार ने कोरोना के ओमिक्रोन वेरिएंट के फैलाव को देखते हुए दिल्ली में क्रिसमस और न्यू ईयर मिलन समारोहों पर रोक लगा दी है। आज देश में कोरोना के 5,326 नए मामले सामने आए हैं। कई महीनों के बाद कोरोना के इतने कम केस समाने आए हैं। ओमिक्रोन वेरिएंट के अबतक 200 केस सामने आ चुके हैं। कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना पर विशेष बैठक करनेवाले हैं।

उधर कर्नाटक सरकार ने भी क्रिसमस मिलन पर रोक लगा दी है। पिछले कई दिनों से कर्नाटक चर्चा में है। वहां अबतक कई चर्चों पर हमले हो चुके हैं। अब वहां धर्मांतरण विरोधी बिल लाया गया है, जिसके अनुसार प्रलोभन देकर धर्मांतरण करने पर पांच लाख रुपए जुर्माना और दस साल की जेल की सजा हो सकती है। शिकायत कोई भी परिजन या उससे जुड़ा व्यक्ति कर सकता है। इस बिल के विरोध में कई संगठनों ने सड़कों पर प्रदर्शन किया है। अब इसी माहौल में वहां क्रिसमस मिलन पर रोक लगा दी गई है।

दिल्ली की केजरीवाल सरकार और कर्नाटक सरकार के क्रिसमस मिलन पर रोक को लेकर खबर लिखे जाने तक राजनीतिक दलों की प्रतिक्रिया नहीं आई है। अभी तक किसी ईसाई संगठन ने भी कोई बयान नहीं दिया है।

नीतीश समाज सुधारने निकले, तो तेजस्वी ने कही बड़ी बात

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*