ऑपरेशन RCP 2nd फेज, ‘बड़बोले’ प्रवक्ता, 2 महासचिव निष्कासित

ऑपरेशन RCP 2nd फेज, ‘बड़बोले’ प्रवक्ता, 2 महासचिव निष्कासित

आज जदयू अध्यक्ष ललन सिंह के नेतृत्व में ऑपरेशन RCP का 2nd फेज धमाकेदार अंदाज में शुरू हो गया। आरसीपी सिंह के तीन बेहद करीबी नेता निष्कासित।

कुमार अनिल

जदयू में आज ऑपरेशन आरसीपी का दूसरा चरण तीन नेताओं पर बिजली बन कर गिरा। ये तीनों केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के बेहद करीबी रहे हैं। पार्टी ने आज प्रवक्ता डॉ. अजय आलोक और दो महासचिव विपिन यादव और अनिल कुमार को पार्टी से निष्कासित कर दिया।

केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह हरिद्वार में मंदिर-मंदिर आशीर्वाद मांग रहे हैं। भाजपा के करीबी ‘ योग गुरुओं’ से गले मिल रहे हैं। लगता है उनकी हरिद्वार यात्रा उल्टा पड़ गई। उनके तीन सबसे करीबी नेताओं को पार्टी से बाहर कर दिया गया। इनमें अजय आलोक की छवि बेहद आक्रामक रही है। उनके विरोधी उनपर बड़बोला होने का आरोप लगाते रहे हैं। विपिन यादव नालंदा के रहनेवाले हैं और बिहार में आरसीपी सिंह के हर कार्यक्रम के मुख्य मैनेजर वही रहते रहे हैं। सारा इंतजाम वही करते रहे हैं। अनिल कुमार जदयू कार्यालय के प्रभारी रह चुके हैं। तीनों को एक साथ पार्टी ने बाहर कर आरसीपी सिंह को भी कड़ा संदेश दे दिया है। वे राज्यसभा में टिकट पाने में असफल होने के बाद से बाहर-ही बाहर दौरा कर रहे हैं।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह के नेतृत्व में ऑपरेशन आरसीपी के तहत पहले फेज में उन्हें राज्यसभा के लिए टिकट से वंचित किया गया, फिर उन्हें पटना में बंगले से भी बेदखल किया गया।

अब दूसरे फेज में तीन नेता बाहर किए गए। अभी तो यह शुरुआत हैं। बहुत जल्द कई और भी बड़े नेता बाहर होंगे, इनमें कुछ जिला अध्यक्ष भी हो सकते हैं। पार्टी ने आरसीपी सिंह के करीबी उन नेताओं पर कार्रवाई नहीं की, जिन्होंने आरसीपी सिंह का साथ छोड दिया और मुख्य धारा में आ मिले। इनमें गया के एक पूर्व विधायक भी शामिल हैं।

पूरे मामले का एक दूसरा पक्ष यह भी है कि बहुत जल्द कुछ नेताओं को प्रोमोट बी किया जा सकता है।

माले से सीखें दूसरे दल, आफरीन मामले में दिखाई राह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*