महागठबंधन को अपनी चिंता है, जनता की नहीं

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मतदाताओं से केन्द्र में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की मजबूत सरकार के लिए समर्थन देने की अपील करते हुए कहा कि इस बार का चुनाव यह तय करेगा कि 21 वीं सदी में भारत के विकास की गति कितनी तेज होगी ।

श्री मोदी ने बक्सर और सासाराम में  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रत्याशी के समर्थन में अहिरौली में आयोजित चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि यह चुनाव सिर्फ यह तय करने के लिए नहीं है कि कौन सा दल या गठबंधन जीतेगा बल्कि यह चुनाव तय करेगा कि आने वाले वर्षों में भारत कितनी तेजी से विकास करेगा । यह चुनाव 21 वीं सदी के हमारे बच्चों के भविष्य को तय करने वाला है । उन्होंने कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और उसके अन्य सहयोगी दलों को महामिलावटी संबोधित करते हुए कहा कि ये लोग भारत के विकास की बात नहीं करते है । उन्हें सिर्फ अपने हित की चिंता है, गरीबों की नहीं ।

प्रधानमंत्री ने कहा कि महामिलावटी लोग कुछ जातियां को गुलाम समझते हैं और सोचते हैं कि वे जैसे कहेंगे उस जाति के लोग वैसा ही करेंगे। ये लोग भूल रहे हैं कि जब देश की बात आती है तब हमसब पहले भारतीय होते हैं बाद में कुछ और। उन्होंने विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि ये वे लोग हैं जो दशकों तक गरीबों के नाम पर वोट और बड़े बड़े पद हासिल किए लेकिन जब काम करने की बारी आई तो सबसे पहले वे गरीबों को ही भूल गये । ये लोग भी गरीबी से ही निकले थे लेकिन इन लोगों ने आज हजारों करोड़ की संपत्ति कर ली है ।  मोदी ने कहा कि ये कांग्रेस का अहंकार ही था जिसने बाबा साहब आंबेडकर का नाम तक, देश से इतिहास से मिटाने की कोशिश की थी । बाबा साहब की विरासत संभालने का दावा करने वाले आज खुले आम कांग्रेस का झंडा लेकर घूम रहे है । उन्होंने कहा कि कांग्रेस का अहंकार सातवें आसमान पर चढ़ा हुआ है ।
प्रधानमंत्री ने कहा कि लोकनायक की विरासत संभालने का दावा करने वाले लोग बिहार में उसी कांग्रेस के साथ हाथ मिलाकर जनता के पास वोट की भीख मांग रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘दुर्भाग्य देखिए इसी बिहार का कुछ लोगों ने अपने भ्रष्टाचार और स्वार्थ के लिए जमकर फायदा उठाया । आज वे सुबह-शाम उन्हें गालियां दे रहे हैं । ये गालियां इसलिए निकल रही हैं क्योंकि बिहार की जनता ने इनका सुपड़ा साफ कर दिया। महामिलावट के दम पर ये लोग दिल्ली में जो मजबूर सरकार बनाने के सपने देख रहे थे उसे लोगों ने चूर-चूर कर दिया।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*