मुजफ्फरपुर में पुलिस और शराब माफिया के बीच शूटआउट

मुजफ्फरपुर में पुलिस और शराब माफिया के बीच शूटआउट

बिहार के मुजफ्फरपुर में पुलिस और शराब माफिया के बीच भीषण शूटआउट हुआ है.

सूत्रों के मुताबिक पुलिस से लुटेरों की मुठभेड़ में एक अपराधी और एक पुलिस जवान को गोली लग गई है. साथ ही पुलिस ने मौके से दो अपराधी को गिरफ्तार किया है.

पटना में वकील की हत्या

ताज़ा जानकारी के अनुसार, दोनों अपराधियों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया. अपराधों के पास से एक कार्रबाइन, दो पिस्टल एक कट्टा, बाइक और लूट की रकम बरामद की गई है.
मुजफ्फरपुर एसएसपी जयंत कांत ने बताया कि मोतीपुर में हीरो एजेंसी में 20 लाख की रकम लूटने के लिए अपराधी जुटे थे.

एसएसपी ने घटना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस टीम गुप्त सुचना के आधार पर छापेमारी करने गयी थी. इस दौरान अपराधियो ने फायरिंग कर दिया, जिससे एक पुलिस के जवान को गोली लग गई. वहीं, जवाबी करवाई में पुलिस ने फायरिंग किया जिससे एक अपराधी को गोली लगी है.

बता दें की हाल ही में बिहार में पुलिस और शराब माफिया के बीच कई मुठभेड़ हो चुके है. 5 सितम्बर को संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस से शराब उतरने की खबर पर छापेमारी करने गई पुलिस और माफियाओं के बीच शनिवार की सुबह खूनी भिड़ंत हो गयी। इस दौरान जक्कनपुर थाने के एएसआई आशुतोष कुमार और एक शराब माफिया सुबोध पासवान को गोली लगी थी ।


छापेमारी देख शराब माफियाओं की ओर से की गई फायरिंग में जक्कनपुर थाने के एएसआई आशुतोष राय के तलुआ में गोली लगी है। फायरिंग के पहले माफियाओं और उनके समर्थकों ने 15 मिनट तक एएसआई को अपने कब्जे में रखा और जमकर मारपीट की। उनकी वर्दी तक फाड़ डाली थी ।

हाल के दिनों में बिहार में बढ़ते अपराध पर विपक्ष भी हमलावर हुआ है.

कांग्रेस नेता अजय उपाध्याय ने कहा कि ‘मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अब सुनाई नहीं देता है. शराब माफिया अंधाधुन पुलिस वालों पर गोली चला रहे हैं और वह बहरे बने हुए हैं. बिहार में हाहाकार है, चारों तरफ क्राइम को लेकर लोग असुरक्षित महसूस कर रहे हैं.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*