प्रशांत किशोर के दावे से बंगाल चुनाव में मची खलबली

प्रशांत किशोर के दावे से बंगाल चुनाव में मची खलबली

चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने आज बड़ी मजबूती से कहा कि नोट कर लें, 2 मई को बंगाल में बंगाल की बेटी ही जीतेगी। साथ ही उन्होंने एक और भी ब़ात कही।

कुमार अनिल

प. बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के लिए काम कर रहे चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर का एक ट्विट आज चर्चा में है। उन्होंने कहा- देश में लोकतंत्र के लिए जारी संघर्ष का एक प्रमुख मैदान बंगाल बनने जा रहा है। यहां के लोगों ने संकल्प ले लिया है और वे सही निर्णय लेंगे। उन्होंने कहा-2 मई को मेरे इस ट्विट को मिला लेना। उन्होंने साथ ही हैशटैग का उपयोग किया-बंगाल चाहता है बंगाल की ही बेटी।

प्रशांत किशोर के इस ट्विट पर सोशल मीडिया में बहस छिड़ गई है। लगभग दस हजार लाइक्स मिल चुके हैं। सैकड़ों लोगों ने प्रतिक्रिया दी है। आदित्य चंदा ने लिखा- इंतजार कीजिए, प्रत्याशी की घोषणा के साथ ही भाजपा अपने ही नेताओं से लड़ती दिखेगी।

दो विरोधी ध्रुव पर खड़े दिखे रैदास पर तेजस्वी और मोदी

प्रशांत ने पिछले दिसंबर में कहा था कि भाजपा दो अंकों में सीट नहीं जीत पाएगी। उन्होंने चुनौती भी दी कि अगर भाजपा दहाई पार करती है, तो वे ट्विटर छोड़ देंगे।

मालूम हो कि पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में चुनाव की घोषणा की गई है। 27 मार्च को पहले चरण के लिए वोट डाले जाएंगे और अंतिम चरण का मतदान 29 अप्रैल को होगा। इसका मतलब है कि चुनाव एक महीने से ज्यादा दिनों तक चलेगा।

जनता स्कूल में तेजस्वी की साइकिल दौड़ी, भाजपा का बंक

ममता बनर्जी ने इस पर सवाल उठाया है। कहा-क्या चुनाव की तिथियां नरेंद्र मोदी और अमित शाह की सुविधा को ध्यान में रखकर तय की गई हैं। उन्होंने कहा कि एक ही जिले में तीन-तीन फेज में चुनाव होंगे। तमिलनाडु में एक ही दिन में चुनाव संपन्न हो जाएगा। तृणमूल का कहना है देश की एकमात्र महिला मुख्यमंत्री के खिलाफ न सिर्फ पूरी भाजपा, बल्कि केंद्र की सारी एजेंसियां भी सक्रिय हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*